Latest Article :
Home » » आज फिर से ''काव्योत्सव'' में किरण राजपुरोहित नितिला

आज फिर से ''काव्योत्सव'' में किरण राजपुरोहित नितिला

Written By अपनी माटी,चित्तौड़गढ़ on शुक्रवार, जून 18, 2010 | शुक्रवार, जून 18, 2010

आज फिर से ''काव्योत्सव'' में हम मिला रहे हैं
किरण राजपुरोहित नितिला
पता- डॉ नरेन्द्रसिंह राजपुरोहित
सामु स्वा केन्द्र ,तखतगढ 306912,जिला पाली ‘राजस्थान’
02933220502,9829202502,9460903131

रचना
टूट कर गिरने से क्या होगा
आशा का दामन थामना होगा
रास्ते सदा न साफ नजर आएगें
कभी धुंध से भी सामना होेगा

 
किनारे बैठे ही क्या सोचें
पानी में पाँव डालना होगा
तन का ही मैल कितना धेायें
अंतस को फिर खंगालना होगा
जान चुके दुनिया को फिर भी
साँप को दूध पिलाना होगा
मन से चाहे दूर हो कितने
प्रकट में हाथ मिलाना होगा
भले कड़वाहटें हो रिश्तों में
फिर भी साथ निभाना होगा
दरारें कितनी हो दीवार में

Share this article :

5 टिप्‍पणियां:

  1. भले कड़वाहटें हो रिश्तों में
    फिर भी साथ निभाना होगा
    दरारें कितनी हो दीवार में
    मुझे लगता है इस से आगे कविता कुछ अधूरी रह गयी है। और ये अच्छा सन्देश नही कि साँप को दूध पिलाना होगा। रिश्तों को निभाना तो सही बात है। अच्छी कोशिश है आभार्

    उत्तर देंहटाएं
  2. टूट कर गिरने से क्या होगा
    आशा का दामन थामना होगा

    आशा का संचार करतीं पंक्तियाँ किरण जी। वाह। किसी की पंक्तियाँ याद आतीं हैं -

    तुमको खुले मिलेंगे तरक्की के रास्ते
    पहला कदम उठाओ लेकिन यकीन से

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  3. टूट कर गिरने से क्या होगा
    आशा का दामन थामना होगा

    आशा का संचार करतीं पंक्तियाँ किरण जी। वाह। किसी की पंक्तियाँ याद आतीं हैं -

    तुमको खुले मिलेंगे तरक्की के रास्ते
    पहला कदम उठाओ लेकिन यकीन से

    सादर
    श्यामल सुमन
    09955373288
    www.manoramsuman.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  4. अच्छी प्रस्तुति...सकारात्मक सोच

    उत्तर देंहटाएं

संस्थापक:माणिक

संस्थापक:माणिक
अपनी माटी ई-पत्रिका

सम्पादक:जितेन्द्र यादव

सम्पादक:जितेन्द्र यादव
अपनी माटी ई-पत्रिका

एक ज़रूरी ब्लॉग

एक ज़रूरी ब्लॉग
बसेड़ा की डायरी:माणिक

यहाँ आपका स्वागत है



ज्यादा पढ़ी गई रचना

यहाँ क्लिक करके हमारी डाक नि:शुल्क पाएं

Donate Apni Maati

रचनाएं यहाँ खोजिएगा

हमारे पाठक साथी

सम्पादक मंडल

साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक ई-पत्रिका
'अपनी माटी'
========
प्रधान सम्पादक
सम्पादक
सह सम्पादक
तकनिकी प्रबंधक
========
संपर्क
apnimaati.com@gmail.com
========

ऑनलाइन

Donate Us

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template