Latest Article :
Home » , , , , , , , » बस्सी काष्टकला को विश्व पटल पर पहुंचाने के प्रयास

बस्सी काष्टकला को विश्व पटल पर पहुंचाने के प्रयास

Written By अपनी माटी,चित्तौड़गढ़ on गुरुवार, अगस्त 12, 2010 | गुरुवार, अगस्त 12, 2010

बैंक आफ बड़ौदा द्वारा 5 करोड़ 53 लाख रू0 के ऋण वितरित

 बस्सी की प्राचीन काष्टकला अपना अद्वितीय स्थान रखती है तथा इस काष्ट कला को विश्व पटल पर पहुंचाने के लिए हर संभव प्रयास किये जाएगें। जिला कलेक्टर डा. मलिक बुधवार को बस्सी मिनि सचिवालय परिसर में बैंक आफ बड़ौदा द्वारा ऋण वितरण समारोह को मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित कर रही थी।  उन्होने बस्सी काष्टकला की सराहना करते हुए कहा कि यहां के दस्तकारों को स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से बस्सी कलस्टर योजना के तहत वर्तमान मांग के अनुरूप काष्टकला के उत्पादों के  और अधिक बेहतर डिजाइन एवं रंगों का उपयोग करने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है ताकि यहां के ये उत्पाद देश के कौने कौने में ही नही बल्कि दुनिया के हर मुल्क में पहुंच सके।  

    जिला कलेक्टर ने यहां कि महिलाओं को आव्हान किया कि वे स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से काष्टकला के उत्पादों से जुड़ें ताकि उन्हैं प्रति माह इन उत्पादों से न्यूनतम करीब 1500 रू0 से अधिक आय अर्जित होने के फलस्वरूप वे आर्थिक रूप से स्वावलम्बी बन सकेगीं।  उन्होने यहां के उत्पादों के विपणन हेतु दस्तकारों की सुविधा के लिए चितौड़गढ़ एवं बस्सी के मध्य उपयुक्त स्थान पर ‘मार्केटिंग सेन्टर एवं सामुदायिक सुविधा केन्द्र‘ बनाने हेतु भूमि चिन्हित करने के लिए उपखण्ड अधिकारी एवं जिला उद्योग केन्द्र के महा प्रबंधक को मौके पर ही निर्देश दिये।  उन्होने दस्तकारों को उनके उत्पाद के लिए स्थानीय स्तर पर अरड़ू की लकड़ी मुहैया कराने की सुविधा उपलब्ध कराने हेतु एवं अरड़ू के पेड़ लगाने के लिए मण्डल वन अधिकारी को भी निर्देशित किया। 
    जिला कलेक्टर डा. मलिक ने बैंक आफ बड़ौदा की जिले की सभी 21 शाखाओं द्वारा 5 करोड, 53 लाख, 29 हजार रू0 के ऋण एवं किसान क्रेडिट कार्ड तथा आर्टिजन क्रेडिट कार्ड वितरण करने की सराहना करते हुए कहा कि बस्सी के 70 दस्तकारों को अब तक आर्टिजन क्रेडिट कार्ड उपलब्ध कराने से इन्हैं अपने उत्पादों को और अधिक बेहतर तरीके से बनाने तथा विपणन करने में सम्बल मिलेगा ।  उन्होने अग्रणी बैंक प्रबंधक को निर्देशित किया कि वे यहां के 70 और दस्तकारों को शीध्रता से आर्टिजन क्रेडिट कार्ड की सुविधा मुहैया कराएं। उन्होने ऋण प्राप्तकर्ताओं, किसानों एवं दस्तकारों, महिला स्वयं सहायता समूहों  को आव्हान किया कि वे ऋण राशि का एक एक पैसे का उपयोग उसी कार्य में करें जिसके लिये उन्होने यह राशि ली है तथा बैंक में ऋण का भुगतान भी समय पर करने का प्रयास करें। 

    समारोह में बैंक आफ बड़ौदा के उप क्षैत्रीय  प्रबंधक एम.एस. वर्मा ने अतिथियों का स्वागत करते हुए बैंक आफ बड़ौदा की गतिविधियों के बारे में जानकारी दी तथा कहा कि यह बैंक 102 वर्षो से अपनी सेवाएं दे रहा है तथा देश में 3 हजार 192, राजस्थान में 368 एवं जिले में 21 शाखाएं अपनी सेवाएं दे रही है जबकि अन्य 25 देशों में 70 शाखाएं संचालित की जाकर बैकिंग सेवाएं उपलब्ध करा रही है।  समारोह में जिला उद्योग केन्द्र के महा प्रबंधक टी.एस. मारवाह ने बस्सी काष्टकला  कलस्टर के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि विगत दो वर्षो से कलस्टर के तहत यहां के काष्टकला के दस्तकारों को तकनिकी प्रशिक्षण दिया जा रहा है तथा यहां के दस्तकारों ने देश के विभिन्न क्षेत्रों में आयोजित 30 आर्टीजन मार्केटिंग कार्यक्रमों में अब तक भाग लिया है जिससे उन्हैं अपने उत्पादों में देश विदेशों की मांग के अनुरूप तराशने की प्रेरणा मिली है।  उन्होने मण्डल वन अधिकारी से आग्रह किया कि वे यहां के दस्तकारों के स्वयं सहायता समूहों को छोटी आरा मशीन लगाने एवं अरड़ू की लकड़ी उपलब्ध कराने     की सुविधा मुहैया कराने का प्रयास करें।  समारोह में मण्डल वन अधिकारी के.आर. काला ने बस्सी के दस्तकारों को उनके उत्पादों के लिये अरड़ू एवं खिरनी के पौधे लगाने की सलाह देते हुए कहा कि वे यहां आवश्यकतानुसार ऐसे पौधे उपलब्ध कराऐगें ताकि दस्तकारों को स्थानीय स्तर पर ही अरड़ू एवं खिरऩी की लकड़ी उपलब्ध हो सकेगी।  उन्होने छोटी आरा मशीन लगाने की प्रक्रिया के बारे में भी जानकारी दी। 

    समारोह में अग्रणी बैंक प्रबंधक डी.पी. बैरवा ने बताया कि समारोह में जिले की सभी 21 बैंक शाखाओं द्वारा जिले के 253 किसानों को 2 करोड़ 66 लाख 30 हजार रू0 के किसान क्रेडिट कार्ड, 7 छात्रों को 26 लाख 2 हजार रू0 के ऋण चेक एवं 40 दस्तकारों को 10 लाख रू0 लिमिट के आर्टीजन क्रेडिर्ट कार्ड की स्वीकृति पत्रा एवं चेक तथा अन्य 37 स्वयं सहायता समूहों, व्यक्तियों को हाउसिंग व  व्यापार आदि के लिए एक करोड़ 85 लाख 75 हजार रू0 के ऋण चेक वितरित किये गये है।  जिला कलेक्टर एवं अन्य अतिथियों ने किसान क्रेडिट कार्ड एवं ऋण चेक, आर्टिजन क्रेडिट कार्ड का वितरण किया तथा उन्होने यहां दस्तकारों द्वारा अपने उत्पादों के लगाई गई लधु प्रदर्शनी का भी अवलोकन किया।    
Share this article :

0 comments:

Speak up your mind

Tell us what you're thinking... !

संस्थापक:माणिक

संस्थापक:माणिक
अपनी माटी ई-पत्रिका

सम्पादक:जितेन्द्र यादव

सम्पादक:जितेन्द्र यादव
अपनी माटी ई-पत्रिका

एक ज़रूरी ब्लॉग

एक ज़रूरी ब्लॉग
बसेड़ा की डायरी:माणिक

यहाँ आपका स्वागत है



ज्यादा पढ़ी गई रचना

यहाँ क्लिक करके हमारी डाक नि:शुल्क पाएं

Donate Apni Maati

रचनाएं यहाँ खोजिएगा

हमारे पाठक साथी

सम्पादक मंडल

साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक ई-पत्रिका
'अपनी माटी'
========
प्रधान सम्पादक
सम्पादक
सह सम्पादक
तकनिकी प्रबंधक
========
संपर्क
apnimaati.com@gmail.com
========

ऑनलाइन

Donate Us

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template