समाचार:- राजस्थान में महंगाई भत्ता 10 फीसदी बढ़ा - अपनी माटी

नवीनतम रचना

समाचार:- राजस्थान में महंगाई भत्ता 10 फीसदी बढ़ा


 राजस्थान सरकार ने केन्द्र सरकार के कर्मचारियों के समान राज्य कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में दस प्रतिशत बढोतरी करने का निर्णय लिया है। आधिकारिक सूत्रों के अनुसार भारत सरकार ने केन्द्रीय कर्मचारियों के महंगाई भत्ते में 10 प्रतिशत बढ़ोतरी करते हुए गत एक जुलाई से 45 प्रतिशत कर दिया था। इसी आधार पर राज्य सरकार ने भी अपने कर्मचारियों के महंगाई भत्ते की दर केन्द्र के समान संशोधित करते हुए गत एक जुलाई से वेतन का 45 प्रतिशत करने का निर्णय लिया है। इस पहल से राज्य सरकार पर 1300 करोड़ का अतिरिक्त भार पड़ेगा।

सूत्रों के अनुसार बढे हुए महंगाई भत्ते का लाभ राज्य कर्मचारियों के अतिरिक्त कार्य प्रभारित कर्मचारियों, पंचायत समिति एवं जिला परिषद के कर्मचारियों को भी देय होगा। गत एक जुलाई से 30 सितम्बर 2010 तक बढे हुए महंगाई भत्ते की राशि संबंधित कर्मचारियों के सामान्य प्रावधायी निधि खातों में जमा की जाएगी तथा आगामी एक अक्टूबर से नकद भुगतान किया जाएगा। सूत्रों के अनुसार एक जनवरी 2004 एवं उसके बाद नियुक्त राज्य कर्मचारियों को बढे हुए महंगाई भžो के बकाया का नकद भुगतान देय होगा। 

वहीं, दूसरी ओर राज्य के पेंशनरों तथा पारिवारिक पेंशनरों का महंगाई भत्ता भी बढ़ा दिया गया है। वर्तमान में मूल वेतन पर 35 प्रतिशत की दर से महंगाई राहत का भुगतान देय है। इसे एक जुलाई से बढ़ाकर 45 प्रतिशत किया जा रहा है। इन्हें बढ़ी हुई महंगाई राहत का गत एक जुलाई से नकद भुगतान देय होगा। सूत्रों के मुताबिक महंगाई भत्ता और महंगाई राहत में इस बढ़ोतरी के फलस्वरूप राज्य सरकार पर लगभग 1250 करोड़ रूपए का अतिरिक्त भार पड़ेगा जो कि चालू वित्त वर्ष में 834 करोड़ रूपए होगा। इससे लगभग सात लाख राज्य कर्मचारी और करीब तीन लाख पेंशनर्स लाभान्वित होंगे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here