आयोजन:- ''ब्लॉग्गिंग की दुनिया '' वर्धा में कार्यशाला - अपनी माटी Apni Maati

India's Leading Hindi E-Magazine भारत की प्रसिद्द साहित्यिक ई-पत्रिका ('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

आयोजन:- ''ब्लॉग्गिंग की दुनिया '' वर्धा में कार्यशाला


(एक तरफ जहां वर्धा को लेकर केवल नकारात्मक खबरें ब्लॉग्गिंग और मीडिया जगत में छाई है वहीं से एक सकारात्मक खबर आई है कि वर्धा विश्वविद्यालय एक कार्यशाला का आयोजन कर रहा है जिसमें ब्लॉग्गिंग को लेकर बहुत सारे मुद्दों पर सार्थक चर्चा होगी.-सम्पादक )


महात्मा गांधी अंतरराष्ट्रीय हिंदी विश्वविद्यालय, वर्धा द्वारा 9-10 अक्टूबर को हिंदी ब्लॉगिंग पर आधारित एक कार्यशाला और विचारगोष्ठी का आयोजन किया गया है। इस अवसर पर अंतर्जाल की इस हिंदीजीवी दुनिया में नवप्रवेश के इच्छुक विद्यार्थियों व अन्य अभ्यर्थियों को ब्लॉग बनाने और नियमित संचालन के लिए आवश्यक तकनीकी जानकारी दी जाएगी। हिंदी में काम करने के विभिन्न औजारों का प्रयोग करने के तरीके बताए जाएंगे।

साइबर जगत के कायदे कानून (Cyber Law) की जानकारी दी जाएगी। विशेषज्ञों द्वारा ब्लॉगिंग की दुनिया में नैतिकता के प्रश्न की पड़ताल की जाएगी। इस प्रश्न पर विचार किया जाएगा कि इस आभासी दुनिया में हमें जो स्वतंत्रता मिली हुई है उसके समुचित उपयोग के लिए क्या किसी आचार संहिता की परिकल्पना की जा सकती है। हम यहाँ जैसा व्यवहार देख रहे हैं, वह क्या हमारे सामाजिक सरोकारों की मर्यादा रख पा रहा है? क्या हिंदी ब्लॉग जगत एक जिम्मेदार मनुष्य की छवि प्रस्तुत कर पा रहा है?
यहाँ जानने का प्रयास किया जाएगा कि इस मंच को एक गम्भीर, सार्थक, समाजोपयोगी और सुव्यवस्थित अभिव्यक्ति का माध्यम बनाने और सकारात्मक प्रतिष्ठा दिलाने के लिए क्या कुछ किया जाना चाहिए, और यह भी कि यहाँ क्या कुछ नहीं किया जाना चाहिए। यहाँ संभावनाएं तो अनन्त हैं लेकिन क्या अच्छा हो कि यहाँ विष की मात्रा अमृत की तुलना में नगण्य हो। सकारात्मक सोच का बोलबाला हो और नकारात्मक शक्तियाँ निरुत्साहित हों।
दो दिन तक चलने वाले इस आयोजन में होने वाले सत्रों कार्यक्रम के पहले दिन अनुभवी विशेषज्ञों के माध्यम से एक कार्यशाला आयोजित कर हिन्दी चिठ्ठाकारी के तकनीकी कौशल और ब्लॉग प्रबन्धन के उपयोगी सूत्र इच्छुक विद्यार्थियों और अन्य पंजीकृत अभ्यर्थियों को सिखाये जाएंगे। कार्यक्रम के दूसरे दिन देश भर के नामचीन ब्लॉगर्स का सम्मेलन होगा। इस अवसर पर कम से कम चार अध्ययन पत्र पढ़े जाएंगे और उनपर खुली बहस होगी। इस बार जिस विषय पर चर्चा होगी वह है- ब्लॉगरी की आचार संहिता (blogging ethics)। इस विषय के विभिन्न पहलुओं पर अध्ययन पत्र आमन्त्रित किए जा रहे हैं।


सूचना स्त्रोत-कार्यक्रम के संयोजक ,सिद्धार्थ शंकर त्रिपाठी 
आंतरिक संपरीक्षा अधिकारी 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here