आयोजन रपट:-रोनू जी के बांसूरी वादन ने मन मोहा - अपनी माटी 'ISSN 2322-0724 Apni Maati'

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित ई-पत्रिका

नवीनतम रचना

आयोजन रपट:-रोनू जी के बांसूरी वादन ने मन मोहा

चित्तौड़गढ़ 12 नवम्बर, स्पिक मैके की चित्तौड़गढ़ शाखा द्वारा आयोजित विरासत कार्यक्रमों के अन्तर्गत 12 नवम्बर को प्रातः 11 बजे कपासन कस्बे में स्थित आरएनटी कॉलेज में देश के ख्यातनाम बांसूरी वादक पं. रोनू मजूमदार ने अपनी प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में कलाकारों का स्वागत अभिनन्दन और दीप प्रज्ज्वलन संस्थान के प्राचार्य श्यामसिंह मण्डलिया और स्नातकोत्तर कॉलेज के प्राचार्य के डॉ. आरएल मारू, नवाचार संस्थान के सचिव अरूण कुमावत ने किया। लगभग 400 विद्यार्थियों के बीच सम्पन्न इस प्रस्तुति में संगीत के इतिहास को लेकर आरम्भिक जानकारी दी गई।

 पं. मजूमदार ने बांसूरी जैसे वाद्ययंत्र के शास्त्रीय वाद्ययंत्र के रूप में स्थापित होने की यात्रा में योगदान देने वाले महान गुरुओं का परिचय दिया।
संगत कलाकार तबला वादक सुधीर पाण्डे और अपने शिष्य कल्पेश के सहयोग से मुख्य रूप से राग पीलू की प्रस्तुति दी। विद्यार्थियों की संगीत से जुड़ी समझ को ध्यान में रखकर मजूमदार ने सारे जहां से अच्छा, पायो जी मैंने रामरतन धन पायों, छाप तिलक सब छीनी, रघुपति राघव राजाराम जैसी सुगम प्रस्तुतियां दी।

कार्यक्रम का संचालन शिक्षक महाविद्यालय के प्राचार्य श्यामसिंह मण्डलिया ने स्वयं किया। वहीं कलाकारों और स्पिक मैके बारे में शाखा समन्वयक जेपी भट्नागर ने अपने विचार रखें। इससे पूर्व 11 नवम्बर की शाम 7 बजे विक्रमनगर, खोर स्थित दी आदित्य बिड़ला पब्लिक स्कूल में भी पं. रोनू मजूमदार ने अपनी प्रस्तुति दी। खोर में कलाकारों का स्वागत यूनिट हेड चन्द्रशेखर और महाप्रबन्धक सतीश पारीक ने किया।


रपट:-माणिक
राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here