आयोजन ;-कुम्भलगढ़ महोत्सव इक्कीस से - Apni Maati Quarterly E-Magazine

नवीनतम रचना

आयोजन ;-कुम्भलगढ़ महोत्सव इक्कीस से

पर्यटन विभाग की ओर से आयोजित कुंभलगढ़ में तीन दिवसीय शास्त्रीय संगीत महाकुंभ मका आगाज कुचीपुड़ी से होगा। उत्सव की तैयारियों को लेकर रविवार को अंतिम रूप दिया गया। पर्यटन सहायक निदेशक सुमिता सरोच ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर ख्यात कुंभलगढ़ महोत्सव का आगाज 21 दिसंबर को यामिनी व भावना रेड्डी के कुचीपुड़ी नृत्य से होगा। इनके साथ सहयोगी कलाकार रंगारंग प्रस्तुति देंगे। समारोह में दूसरे दिन 22 दिसंबर को सूफी कत्थक की प्रस्तुति रानी खानम एवं समूह तथा 23 दिसंबर को जयप्रभा मेनन मोहनीअट्टम, थय्यम तथा नवतेज जौहरी भरतनाट्यम की प्रस्तुति देंगी। 


खुजराहो की तर्ज पर कुंभलगढ़ में आयोजित महोत्सव के तीनों दिन सुबह 11 से अपराह्न 3 बजे तक राजस्थान के ख्यातनाम लोक कलाकारों की प्रस्तुतियां भी होंगी। महोत्सव देखने आने वाले सैलानियों के लिए दिन में साफा बांधना, रंगोली, रस्साकशी, मेहंदी मांडना जैसी प्रतियोगिताएं भी होंगी। पर्यटन विभाग की ओर से महाराणा कुंभा द्वारा निर्मित कुंभलगढ़ में यह चौथा महोत्सव है। 2006 में शुरू हुए इस महोत्सव में राजस्थान के लोकसंगीत पर आधारित प्रस्तुतियां रखी गई। इसमें ऑर्केस्ट्रा कार्यक्रम का क्षेत्रवासियों ने विरोध किया। बाद में खजुराहो महोत्सव की तर्ज पर ख्यातनाम शास्त्रीय कलाकारों की प्रस्तुतियां होने लगीं।



पर्यटन विभाग ने दो बसों का इंतजाम किया है जो पर्यटन स्वागत केंद्र से प्रतिदिन 3 बजे कुंभलगढ़ के लिए रवाना होगी। बसों में जाने वाले सैलानियों को एक दिन पूर्व अपना नाम पंजीयन कराना होगा। इन्हें निशुल्क ले जाया जाएगा। महोत्सव के तहत सैलानियों के लिए प्रवेश के साथ साथ लाइट एंड साउंड कार्यक्रम नि:शुल्क रहेगा। :-

जानकारी साभार:-दैनिक भास्कर 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here