आमंत्रण और रूपरेखा;-जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल-2011 - अपनी माटी

नवीनतम रचना

शनिवार, जनवरी 08, 2011

आमंत्रण और रूपरेखा;-जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल-2011


दक्षिण एशिया का चर्चित सालाना साहित्यिक आयोजन ‘जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल’ शुक्रवार से शुरू होगा। पांच दिन तक रोजाना एकसाथ चार सत्रों में साहित्यकारों, फिल्मी हस्तियों, रंगकर्मियों व कॉर्पोरेट हस्तियों के संवाद, वर्कशॉप, उद्बोधन और प्रश्नोत्तर कार्यक्रम होंगे। पहले ही दिन मशहूर शायर व स्क्रिप्ट राइटर गुलज़ार और जावेद अख्तर फेस्टिवल की रौनक बढ़ाएंगे।डिग्गी पैलेस में सुबह 10 बजे कोलंबिया यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर शैलेन पॉलोक के उद्बोधन से उत्सव का आगाज होगा। विशिष्ट अतिथि सांसद डॉ. कर्ण सिंह होंगे। अब तक 6 बार आयोजित हो चुके फेस्टिवल में पहली बार डीएससी लिटरेचर अवार्ड की राशि सबसे ज्यादा 50 हजार यूएस डॉलर, करीब 22 लाख 59 हजार रु. रखी गई है।


फ्रंट लॉन, मुगल टैंट, बैठक और दरबार हॉल में सत्रों की शुरुआत सुबह 11 बजे से होगी। पहले दिन का प्रमुख आकर्षण होगा दैनिक भास्कर संवाद, जिसमें गुलजार व पवन वर्मा के बीच ‘कुछ शहर कुछ पेड़, कुछ नज़मों का खयाल’ पर बात होगी। इसके साथ साथ एलेक्सेज एडवेंचर इन नंबरलैंड, आर्ट ऑफ द नोवल, एम्पेरर ऑफ मेलेडीज, राजस्थली, टू पेजेज फ्रॉम हिस्ट्री, उर्दू ज़ुबान तथा माओ- द अननोन स्टोरी जैसे आयोजन काफी रोचक होंगे। सत्र उर्दू ज़ुबान में जावेद अख्तर को सुना जा सकेगा। इनके अलावा निरुपमा दत्त, अंजुम हसन, अली सेठी, पवन वर्मा, जैरी पिंटो, कैथेरिने रशेल, नवतेज सरना, उर्वशी बुटालिया व शैलडन पॉलोक जैसी प्रमुख हस्तियां शामिल होंगे। प्रतिदिन गीत, संगीत व रंगकर्म के आयोजन भी होंगे

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here