सार समाचार:-'महाभारत में श्रीकृष्ण के विविध स्वरूप' विषय पर राष्ट्रीय संगोष्टी - अपनी माटी 'ISSN 2322-0724 Apni Maati'

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित ई-पत्रिका

नवीनतम रचना

सार समाचार:-'महाभारत में श्रीकृष्ण के विविध स्वरूप' विषय पर राष्ट्रीय संगोष्टी



अभा साहित्य परिषद,निम्बाहेड़ा,राजस्थान का आयोजन 
अभा साहित्य परिषद की स्थानीय इकाई द्वारा 29 व 30 जनवरी को आयोजित काव्य निशा, राष्ट्रीय संगोष्टी एवं साहित्यकार सम्मेलन के आयोजन की तैयारियां जोरो पर हैं। परिषद के जिला अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र सिंघवी एवं उमेश कुमार शर्मा के अनुसार 29 जनवरी शनिवार शाम 7.30 बजे से काव्य निशा आदर्श कॉलोनी स्थित स्वामी विवेकानंद सामुदायिक भवन में होगी। यूएस शर्मा ने बताया कि राष्ट्रीय संगोष्टी का उदघाटन 30 जनवरी रविवार शहीद दिवस को सुबह 10 बजे होगा, जिसमें महाभारत में श्रीकृष्ण के विविध स्वरूप विषयक चर्चा व शोधपत्र वाचन एवं उदबोधन होंगे। जानकीलाल जोशी एवं अरविंद मूंदड़ा के अनुसार विद्वत अभिनंदन समारोह एवं साहित्यकार सम्मेलन दोपहर दो बजे से प्रारंभ होगा।

इस आयोजन में प्रख्यात साहित्यकार डॉ. बद्री प्रसाद पंचोली,राजस्थान लोक सेवा आयोग के सदस्य परमेन्दर दशोरा,साहित्य परिषद् के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मथुरेश नंदन कुलश्रेष्ठ, उपाध्यक्ष डॉ. रमेश शर्मा,ख्यातनाम शास्त्रज्ञ राधेश्याम सुखवाल शिरकत कर रहे हैं.साथ ही यहाँ आयोज्य दोनों सत्रों में देशभर से प्राप्त चयनित आठ शोध पत्रों का वाचन अवम समीक्षण किया जाएगा.इस अवसर डॉ. रवींद्र उपाध्याय के संपादकत्व में प्रकाशित समारिका में ''हमारा दृष्टिकोण'' का विमोचन भी किया जाना है.
.
परिषद के डॉ. नित्यानंद द्विवेदी एवं हीरालाल लुहार के अनुसार शाम 4 बजे साहित्य परिषद की ओर से साहित्यश्री सम्मान समारोह होगा, जिसमें साहित्य के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने वाले साहित्यकारों का सम्मान किया जाएगा।आयोजन समितियों में गोपाल व्यास, वैभव, घनश्याम गायरी, बसंत अग्रवाल, राजमल प्रजापत, अनिल झंवर, गोरधन पाटीदार सहित अन्य साहित्यप्रेमी  सम्मिलित किए गए हैं।

सूचना:-डॉ.राजेन्द्र सिंघवी,प्राध्यापक,डाइट,चित्तौडगढ 
  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here