आयोजन आमंत्रण:-माही महोत्सव,बाँसवाडा,राजस्थान - अपनी माटी ई-पत्रिका

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

आयोजन आमंत्रण:-माही महोत्सव,बाँसवाडा,राजस्थान


बाँसवाडा,राजस्थान की विशिष्ट पहचान स्थापित कराने तथा देशी-विदेशी पर्यटकों की आवाजाही बढाकर पर्यटन उद्योग विकसित कर आंचलिक खुशहाली को सम्बल प्रदान करने के मकसद से दो दिवसीय माही महोत्सव का आगाज बांसवाडा में 11 फरवरी सोमवार को होगा।सवाडावासियों की दिली भावनाओं से जुडे इस उत्सव को विशाल, व्यापक और भव्य समारोह के साथ मनाने की सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। जिला कलक्टर विकास एस. भाले ने रविवार शाम माही महोत्सव को लेकर की जा रही तैयारियों का जायजा लिया और समुचित दिशा-निर्देश दिए। उनके साथ अतिरिक्त जिला कलक्टर अबरार अहमद, उपखण्ड अधिकारी भवानीसिंह पालावत, पर्यटन विभागीय अधिकारी विकास पण्ड्या, जिला पर्यटन अधिकारी अनिल तलवाडया, नगरपालिका के अधिशासी अधिकारी दिलीप कुमार गुप्ता सहित अनेक  आदि भी थे।

उद्घाटन समारोह- दिवसीय माही महोत्सव का रंगारंग उद्घाटन समारोह 11 फरवरी, सोमवार को सुबह 10 बजे आयोजित किया जाएगा। समारोह के आरंभ में मुख्य अतिथि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री भवानी जोशी ध्वजारोहण कर महोत्सव की शुरूआत करेंगे। समारोह में जिले की सभी पंचायत समितियों से पारंपरिक वेशभूषा में 50-50 के समूहों में आने वाले सांस्कृतिक दल अलग-अलग घेरों में आदिवासी अंचल के प्रतिनिधि नृत्य गैर की मनोहारी प्रस्तुति देंगे।

उद्घाटन समारोह के उपरान्त पैरा मोटर से समारेाह स्थल पर पुष्प वृष्टि की जाएगी। इसी दौरान् होट एयर बैलून  एवं पेरा सेलिंग तथा जोर्बिंग बॉल की गतिविधियां आरंभ होंगी। इन कार्यक्रमों में चिकित्सा एवं स्वास्थ्य राज्यमंत्री भवानी जोशी मुख्य अतिथि होंगे जबकि स्वतंत्रता सेनानी मास्टर सूरजमल, जगमालसिंहमहारावल’, बांसवाडा नगरपालिकाध्यक्ष श्रीमती कृष्णा कटारा सहित जिले के जन प्रतिनिधि, विभिन्न समाजों और संस्थाओं के पदाधिकारी, औद्योगिक प्रतिष्ठानों के प्रतिनिधि, अधिकारीगण, राज्यकर्मी, स्कूली बच्चे, गणमान्य नागरिक उपस्थित रहेंगे।

शोभायात्रा
इन कार्यक्रमों के बाद विराट शोभायात्रा निकलेगी। इसे अतिथियों द्वारा हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया जाएगा।  शोभायात्रा में जिले की प्रत्येक पंचायत समिति ये आंचलिक परिदृश्यों पर केन्दि्रत एक-एक आकर्षक झाँकी शामिल होगी।  इसके साथ ही प्रत्येक पंचायत समिति से परम्परागत वेशभूषा में सांस्कृतिक दल भाग लेगा। यह दल उद्घाटन समारोह के दौरान् कुशलबाग मैदान में गैर नृत्य की मनोहारी प्रस्तुति भी देगा।
इसी प्रकार शोभायात्रा में विभिन्न समाजों के दल भी अपनी परम्परागत वेशभूषा में शरीक होंगे। इनमें बागीदौरा से पाटीदार दल, गढी से रेबारी दल, घाटोल से गाडिया लुहारों का दल आदि हिस्सा लेंगे।  इस शोभायात्रा के अन्तर्गत 10 अश्व एवं 10 ऊँट शामिल होंगे। कलश यात्रा में चंद्रपोल विद्यालय, नई आबादी, बीवीबी, विद्या निकेतन राजमंदिर आदि विद्यालयों की 25-25 बालिकाएं कलश लेकर यात्रा में शामिल होंगी। महिला एवं बाल विकास, चिकित्सा, स्वच्छ, साक्षरता के 25-25 महिलाओं के दल शोभायात्रा में शामिल रहेंगे। शोभायात्रा में एनएसएस, एनसीसी, स्काउट, एथलेटिक्स के 25-25 सदस्यों के दल भाग लेंगे। समस्त पंचायत समितियों से 8 सांस्कृतिक दल भाग लेंगे। प्रत्येक दल में 50 सदस्य होंगे।शोभायात्रा में पुलिस बैण्ड तथा विभिन्न स्कूलों के बैण्ड सहित अन्य बैण्डवादक रास्ते भर सुमधुर स्वर लहरियों की बरसात करते चलेंगे। इसमें अंकुर स्कूल, फखरियाह, राजकीय बालिका उच्च माध्यमिक विद्यालय चन्द्रपोल आदि के बैण्ड शामिल हैं।

शोभा यात्रा का मार्ग शोभा यात्रा कुशलबाग से गांधीमूर्ति, पीपली चौक, पैलेस रोड, महालक्ष्मी चौक, आजाद चौक, सब्जीमंडी होते हुए नई आबादी, कलक्ट्री सरकल, जवाहर पुल होते हुए कुशलबाग मैदान पहुंचकर सम्पन्न होगी।
सांस्कृतिक कार्यक्रम

सोमवार रात 7.30 बजे कुशलबाग मैदान में विशाल सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इसमें देश के मशहूर कलाकारों द्वारा आकर्षक एवं मनोहारी कार्यक्रम प्रस्तुत किए जाएंगे। शुरुआती डेढ घण्टे की सांस्कृतिक प्रस्तुतियां संस्कार भारती बांसवाडा द्वारा दी जाएंगी।इसके बाद शहनाई वादन, भपंग वादन, भवाई नृत्य, केरवानो वेश, सिद्धि धमाल, चरकुला द्वारा मयूर नृत्य, होली नृत्य आदि के कार्यक्रम आकर्षण का केन्द्र होंगे। सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारंभ माँ त्रिपुरा सुन्दरी के चित्र के सम्मुख माल्यार्पण दीप प्रज्वलन से होगा।इनमें भीलवाडा की सुरभि गर्ग द्वारा 151 कलशों से भवई नृत्य, डीग(भरतपुर) के अशोक शर्मा द्वारा चरकुला, मयूर नृत्य और फूलों की होली नृत्य पेश किया जाएगा। अहमदाबाद के राजेन्द्र डी. रावल केरवानो वेश नृत्य पेश करेंगे। भपंग वादन उमर फारुख द्वारा किया जाएगा। सांस्कृतिक संध्या में शहनाई वादन उदयपुर के बंशीलाल करेंगे। केसरसिंह नट द्वारा नट शैली में प्रदर्शन किया जाएगा। बेनीराम द्वारा 18 फीट ऊँची कठपुतली का प्रदर्शन आकर्षण जमाएगा।

खेल प्रतियोगिता
कुशलबाग मैदान में माही उत्सव के अन्तर्गत ग्यारह फरवरी सोमवार को अपराह्न 12 बजे महिलाओं के लिए कुशलबाग मैदान में मटका दौड आयोजित होगी जिसमें 40 महिलाएँ 40 छात्रा खिलाडी भाग लेंगे।  दोपहर 1 से 1.30 बजे नागरिक बनाम कर्मचारीगण ग्रामीण टीमों की कुशलबाग मैदान में रस्सा कस्सी प्रतियोगिता होंगी। सोमवार को ही1.30 बजे से 3 बजे तक लोधा के ग्रामीणों का कूपडा के ग्रामीणों के साथ कुशलबाग मैदान पर ही सितोलिया खेल होगा।

वाटर
स्पोर्ट्ससोमवार को दिन में दो बजे कागदी पिक अप वियर पर वाटर स्पोट्र्स आयोजित होंगे। इनमें स्कूटर, मोटरबोट, बतख बोट, शिकारा आदि से नौकायन होगी। इसमें आम जनता निःशुल्क नौकायन का लाभ ले सकेगी।

दीप दान 
सोमवार शाम 6 बजे कागदी पिक अप वियर पर विजवामाता मन्दिर के सम्मुख अवस्थित जल घाट पर दीप दान का कार्यक्रम होगा। इसमें दो हजार 501 दीपकों का दान किया जाएगा.मनोहारी आतिशबाजी दीप दान कार्यक्रम के बाद कागदी पिक अप वियर स्थित साई बाबा मन्दिर पर मनोहारी आतिशबाजी होगी।  इसमें मशहूर शोरगर आतिशबाजी के हुनर दिखाएंगे।कुशलबाग मैदान में डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी रंगमंच पर होगा। रंगमंच के सामने दर्शकों/श्रोताओं के लिए सुव्यवस्थित बैठक व्यवस्था की गई है। इसके अन्तर्गत रंगमंच के आगे 30 फीट की डी होगी तथा इसके बाद कुशलबाग मैदान के पूर्वी छोर से चार ब्लॉक बनाए गए हैं। इनमें एक सौ की क्षमता वाला पहला ब्लाक अतिविशिष्ट व्यक्तियों के लिए होगा।  डेढ सौं की क्षमता वाला दूसरा ब्लॉक अधिकारियों के लिए निर्धारित है।  पार्षदों तथा गणमान्य नागरिकों के लिए 250 की क्षमता वाला तीसरा ब्लॉक बनाया गया है। इन तीन ही ब्लॉकों में बैठक व्यवस्था के लिए आरामदायक  गद्दे लगाए जाएंगे। कुशलबाग मैदान के पश्चिमी छोर की तरह बनाया गया चौथा ब्लॉक मीडिया के लिए होगा और इसमें कुर्सियां लगाई जाएंगी। इसकी क्षमता 50 की होगी।

इन सभी चारों ब्लॉकों के पीछे चार और विशाल ब्लॉक होंगे। इनमें कुशलबाग मैदान के पूर्वी छोर की तरफ के दो ब्लॉक पुरुषों के लिए होंगे जबकि पश्चिमी छोर की तरफ वाले दो ब्लॉक महिलाओं के लिए निर्धारित हैं।
माही महोत्सव के मद्देनजर पारकिंग एवं यातायात माही महोत्सव के अन्तर्गत कुशलबाग मैदान में आयोजित समारोह एवं कार्यक्रमों को दृष्टिगत रखते हुए पारकिंग एवं यातायात व्यवस्था की गई है। इसके तहत दुपहिया और छोटे वाहन  कुशलबाग मैदान के बाहरी पूर्वी छोर पर पार्क किए जा सकेंगे। इसी प्रकार बडे वाहन जलदाय विभाग तथा सूचना केन्द्र क्षेत्र में पार्क हो सकेंगे।

दो दिवसीय माही महोत्सव का समापन समारोह 12 फरवरी को आयोजित किया जाएगा। इसमें मेगा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुतियां दी जाएंगी। आरंभ में माँ त्रिपुरा सुन्दरी के चित्र के सम्मुख माल्यार्पण दीप प्रज्वलन किया जाएगा। इसके उपरांत ईशवंदना होगी।  समापन अवसर पर माही महोत्सव की विभिन्न प्रतियोगिताओं में विजेताओं को पुरस्कार वितरित किया जाएगा। उत्कृष्ट सेवाओं के लिए विशिष्ट व्यक्तियों का सम्मान होगा। जिला कलक्टर, मुख्य अतिथि  द्वारा संबोधन के बाद तोसी (जयपुर-राजस्थानएवं मिरान्दे (अहमदाब-गुजरात) वोईस ऑफ इंडिया के द्वारा प्रस्तुतियां भी दी जाएंगी।बारह फरवरी को प्रातः 11 से 12.30 बजे बडोदिया बनाम बदरेल लोधा बनाम तलवाडा का कुशलबाग मैदान पर कबड्डी का खेल होगा।  दोपहर 1.30 से 2.15 बजे तक जनजाति विकास विभाग बनाम समाज कल्याण विभाग के खिलाडयों का कुशलबाग मैदान पर परम्परागत वेशभूषा में रूमाल झपट्टा खेल आयोजित होगा।  दोपहर 2.15 से 3.30 बजे ग्रामीण भारतीय पद्धति के तीर धनुष से 20 एवं 30 मीटर दूरी की तीरंदाजी प्रतियोगिता कुशलबाग मैदान पर होगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here