पत्रकारों की कलम पर जा ठहरी आस - अपनी माटी ई-पत्रिका

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

पत्रकारों की कलम पर जा ठहरी आस

चित्तौडगढ
जिला पुलिस अधीक्षक विकासकुमार ने कहा कि पत्रकार अपनी सकारात्मक सोच के साथ अपनी कलम को कागजों में उकेर कर समाज को नई दिशा दे। एसपी विकासकुमार ने यह बात रविवार दोपहर राजस्थान जर्नलिस्ट यूनियन की ओर से भीलवाड़ा बाईपास मार्ग पर स्थित एक वाटिका में आयोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पत्रकार एक दर्पण के समान है, जिसमें समाज और प्रशासन अपनी प्रतिबंब देख सकता है। उन्होंने पत्रकारिता को एक मिशन बताते हुए कहा कि पत्रकार की कलम से निकला एक-एक शब्द देश में क्रांति कर परिवर्तन ला सकता है। कार्यक्रम में आरजेयू के प्रदेश महासचिव धीरज तेज गुप्ता ने कहा कि पीडि़तों को शोषण से मुक्ति दिलाने वाले पत्रकार की स्थिति दयनीय है। यही कारण है कि पत्रकारों को सरकारी सुविधाएं दिलाने के लिए यूनियन का गठन किया है। 

यूनियन के माध्यम से राज्य सरकार से पत्रकारों के कल्याणार्थ सुविधाओं की मांग की गई है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ पत्रकार प्रद्युम्न शर्मा ने कहा कि समाज वो ही ग्रहण करेगा, जो पत्रकार अपनी लेखनी के माध्यम से विचार व्यक्त करता है। नपा उपाध्यक्ष संदीप शर्मा ने पत्रकारों द्वारा सामाजिक सरोकारों के मुद्दे पर कहा कि यूनियन द्वारा मुख्यमंत्री की सड़क दुर्घटनाओं को रोकने व आमजन की सुरक्षा की मंशा के अनुरूप पत्रकारों को हेलमेट वितरण करना सराहनीय कार्य है। वरिष्ठ अधिवक्ता सैय्यद दौलत अली ने कहा कि पुलिस के साथ हेलमेट अभियान में अपनी सहभागिता दर्ज करा कर सराहनीय कार्य किया है। तहसीलदार रणधीरसिंह, पत्रकार पीके अग्रवाल ने भी विचार रखे। कार्यक्रम में कई गणमान्य नागरिक मौजूद थे। इससे पूर्व राजस्थान जर्नलिस्ट यूनियन के अध्यक्ष नारायणसिंह नीरज ने स्वागत किया। पत्रकार हेमंत सुहालका, लोकेश शर्मा, अखिल तिवारी, अमित दशोरा, मुकेश मूंदड़ा, संजय खाब्या, रमेश टेलर आदि ने स्वागत किया। संचालन जेपी दशोरा ने किया।
  
नारायणसिंह नीरज
अध्यक्ष 
राजस्थान जर्नलिस्ट यूनियन

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here