Latest Article :

पत्रकारों की कलम पर जा ठहरी आस

Written By ''अपनी माटी'' वेबपत्रिका सम्पादन मंडल on मंगलवार, मार्च 15, 2011 | मंगलवार, मार्च 15, 2011

चित्तौडगढ
जिला पुलिस अधीक्षक विकासकुमार ने कहा कि पत्रकार अपनी सकारात्मक सोच के साथ अपनी कलम को कागजों में उकेर कर समाज को नई दिशा दे। एसपी विकासकुमार ने यह बात रविवार दोपहर राजस्थान जर्नलिस्ट यूनियन की ओर से भीलवाड़ा बाईपास मार्ग पर स्थित एक वाटिका में आयोजित पत्रकार सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। उन्होंने कहा कि पत्रकार एक दर्पण के समान है, जिसमें समाज और प्रशासन अपनी प्रतिबंब देख सकता है। उन्होंने पत्रकारिता को एक मिशन बताते हुए कहा कि पत्रकार की कलम से निकला एक-एक शब्द देश में क्रांति कर परिवर्तन ला सकता है। कार्यक्रम में आरजेयू के प्रदेश महासचिव धीरज तेज गुप्ता ने कहा कि पीडि़तों को शोषण से मुक्ति दिलाने वाले पत्रकार की स्थिति दयनीय है। यही कारण है कि पत्रकारों को सरकारी सुविधाएं दिलाने के लिए यूनियन का गठन किया है। 

यूनियन के माध्यम से राज्य सरकार से पत्रकारों के कल्याणार्थ सुविधाओं की मांग की गई है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे वरिष्ठ पत्रकार प्रद्युम्न शर्मा ने कहा कि समाज वो ही ग्रहण करेगा, जो पत्रकार अपनी लेखनी के माध्यम से विचार व्यक्त करता है। नपा उपाध्यक्ष संदीप शर्मा ने पत्रकारों द्वारा सामाजिक सरोकारों के मुद्दे पर कहा कि यूनियन द्वारा मुख्यमंत्री की सड़क दुर्घटनाओं को रोकने व आमजन की सुरक्षा की मंशा के अनुरूप पत्रकारों को हेलमेट वितरण करना सराहनीय कार्य है। वरिष्ठ अधिवक्ता सैय्यद दौलत अली ने कहा कि पुलिस के साथ हेलमेट अभियान में अपनी सहभागिता दर्ज करा कर सराहनीय कार्य किया है। तहसीलदार रणधीरसिंह, पत्रकार पीके अग्रवाल ने भी विचार रखे। कार्यक्रम में कई गणमान्य नागरिक मौजूद थे। इससे पूर्व राजस्थान जर्नलिस्ट यूनियन के अध्यक्ष नारायणसिंह नीरज ने स्वागत किया। पत्रकार हेमंत सुहालका, लोकेश शर्मा, अखिल तिवारी, अमित दशोरा, मुकेश मूंदड़ा, संजय खाब्या, रमेश टेलर आदि ने स्वागत किया। संचालन जेपी दशोरा ने किया।
  
नारायणसिंह नीरज
अध्यक्ष 
राजस्थान जर्नलिस्ट यूनियन
Share this article :

0 comments:

Speak up your mind

Tell us what you're thinking... !

संस्थापक:माणिक

संस्थापक:माणिक
अपनी माटी ई-पत्रिका

सम्पादक:जितेन्द्र यादव

सम्पादक:जितेन्द्र यादव
अपनी माटी ई-पत्रिका

एक ज़रूरी ब्लॉग

एक ज़रूरी ब्लॉग
बसेड़ा की डायरी:माणिक

यहाँ आपका स्वागत है



ज्यादा पढ़ी गई रचना

यहाँ क्लिक करके हमारी डाक नि:शुल्क पाएं

Donate Apni Maati

रचनाएं यहाँ खोजिएगा

हमारे पाठक साथी

सम्पादक मंडल

साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक ई-पत्रिका
'अपनी माटी'
========
प्रधान सम्पादक
सम्पादक
सह सम्पादक
तकनिकी प्रबंधक
========
संपर्क
apnimaati.com@gmail.com
========

ऑनलाइन

Donate Us

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template