'भारतीय साहित्य में चिन्नप भारती के योगदान' पर चर्चा - अपनी माटी 'ISSN 2322-0724 Apni Maati'

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित ई-पत्रिका

नवीनतम रचना

'भारतीय साहित्य में चिन्नप भारती के योगदान' पर चर्चा

हमारे साथी पुखराज जांगिड ने बताया कि "भारतीय साहित्य में चिन्नप भारती का योगदान" विषय पर 'इंडियन सोसायटी ऑफ ऑथर्स' 'उदभव' के संयुक्त तत्वाधान में एक राष्ट्रीय संगोष्ठी का आयोजन किया जा रहा है.उद्घघाटन सत्र  वरिष्ठ साहित्यकार चित्रा मुदगल के मुख्या आतिथ्य में होगा. वहीं विशिष्ट अतिथि - एस. के. करूण्णप्पन के. वैद्यनाथन (संपादक-दिनमणि) रहेंगे.इस अवसर पर किशन कालजयी के संपादकत्व में ''वर्ग चेतना के जुझारू साहिकत्यकार चिन्नप भारती पर केंद्रित 'संवेद' के अंक का लोकार्पण भी होगा.

आयोजन की रूपरेखा  
प्रथम सत्र (11:45 AM - 01:30 PM)
अध्यक्ष - डॉ. मस्तराम कपूर,
वक्ता - गंगा सहाय मीणा (जेएनयू), सूश्री मकतूबा (ताशकंद विवि.), भगवती प्रसाद निदारिया विवेक गौतम।

द्वितीय सत्र (02:30 AM - 04:00PM)
अध्यक्ष - चंचल चौहान,
वक्ता - अशोक खन्ना, विवेक मिश्र, श्रीमती अमृता बेहरा।

कविता पाठ - चिन्नप भारती।
संयोजन - विवेक गौतम।

आयोजन स्थल:-16 अप्रैल · 10:00 - 16:00
हिंदी भवन, दिगंबर मार्ग, ITO के पास, नई दिल्ली-02

संपर्क :-                                                                                                                               
पुखराज जाँगिड़ की रपट , शोधार्थी,
भारतीय भाषा केंद्रजेएनयूनई दिल्ली-110067
-मेल :- pukhraj.jnu@gmail.com

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here