Latest Article :
Home » , » जिला कलेक्टर:एक घंण्टे रोज श्रमदान

जिला कलेक्टर:एक घंण्टे रोज श्रमदान

Written By 'अपनी माटी' मासिक ई-पत्रिका (www.ApniMaati.com) on शुक्रवार, अप्रैल 29, 2011 | शुक्रवार, अप्रैल 29, 2011

 छतरपुर (संतोष गंगेले) 

जब व्यक्ति में ईश्वरी शक्ति होती है तो वह सामाजिक कार्यो में भी अपना बल का प्रयोग करता हैं ,छतरपुर जिला केलिए सौभाग्य की बात है कि जिला के युवा कलेक्टर राहुल जैन मिले है जो प्रषिक्षण के बाद पहली बार जिला कलेक्टर के रूप में कार्य कर रहे है।  कलेक्टर को सामाजिक कार्यो में अत्याधिक रूचि नजर आ रही है उन्होने छतरपुर जिला के प्रभारी मंत्री हरीशकर खटीक के व्दारा  जन भागीदारी से शुरू हुआ जल अभिषेक का शुभारम्भ शहर के बीचो बीच सांतरी तलैया की साफ सफाई व गहरीकरण को लेकर भूमि पूजन के बाद कार्य  शुरू  हुआ जिसमें जिला के तमाम राजनैतिक नेताओं ने भी अपनी भूमिका अदा की लेकिन इस अवसर पर छतरपुर जिला कलेक्टर ने जिला की जनता से अनुरोध करते हुये कहा कि बर्तमान समय में पानी की एक एक बूँद का महत्व है उसे बचाना होगा तथा जिला में जो ताल तलैया पुखरिया है उनकी साफ सफाई गहरीकरण  पुनरोध्दार करना आवष्यक है । जिसके लिए कलेक्टर के अलावा में एक  मानव हूँ ,मेरा कर्तव्य बनता है कि मैं भी जिला के विकाष में अपना श्रमदान करूंगा ,जिसकेलिए सुबह एक घंटे का समय रहेगा । 


  1.                          इस अवसर पर मुख्य नगर पालिका अधिकारी सुधीर सिंह ने अपने प्रतिबेदन में छतरपुर ष्षहर में सभी 11 तालावों की जानकारी देते हुये बताया कि 30 लाख रू0 की लागत से सांतरी तलैया का जीर्णोध्दार किया जावेगा जिसमें गंदे नाले के डायबसर्न हेतू 6.38 लाख, गहरीकरण हेतू 12.34 लाख, रिटर्निगण दीवार हेतू 9.26 लाख, तथा सौंदयींकरण में  2.02 लाख रू0 संभावित व्यय किया जावेगा ।  इस अवसर पर छतरपुर जिला के साथ साथ जिला के अन्य ब्लाक व तहसीलों के भारतीय जनता पार्टी के नेताओं ने भी श्रमदान में अपनी भूमिका का निर्वाहन किया । यदि कलेक्टर जैसे जुम्मेदार अधिकारी श्रमदान करेगें तो आम जनता को ऐसे प्रकरणों से सबक लेकर जनहित के कार्यो में अपनी शक्ति लगा देना चाहिये । 
संतोष गंगेले
पत्रकार साथी 

Share this article :

1 टिप्पणी:

  1. छतरपुर जिला कलेक्टर श्री राहुल जैन एक युवा व कर्मठ अधिकारी साबित हो रहे है.साथ ह़ी ईमानदार व समाज सेवी है. संतोष गंगेले

    उत्तर देंहटाएं

संस्थापक:माणिक

संस्थापक:माणिक
अपनी माटी ई-पत्रिका

सम्पादक:जितेन्द्र यादव

सम्पादक:जितेन्द्र यादव
अपनी माटी ई-पत्रिका

एक ज़रूरी ब्लॉग

एक ज़रूरी ब्लॉग
बसेड़ा की डायरी:माणिक

यहाँ आपका स्वागत है



ज्यादा पढ़ी गई रचना

यहाँ क्लिक करके हमारी डाक नि:शुल्क पाएं

Donate Apni Maati

रचनाएं यहाँ खोजिएगा

हमारे पाठक साथी

सम्पादक मंडल

साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक ई-पत्रिका
'अपनी माटी'
========
प्रधान सम्पादक
सम्पादक
सह सम्पादक
तकनिकी प्रबंधक
========
संपर्क
apnimaati.com@gmail.com
========

ऑनलाइन

Donate Us

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template