अण्णा हजारे के समर्थन में उठी उदयपुर से आवाज - अपनी माटी (PEER REVIEWED JOURNAL )

नवीनतम रचना

शुक्रवार, अप्रैल 08, 2011

अण्णा हजारे के समर्थन में उठी उदयपुर से आवाज

उदयपुर

व्यापक जन लोकपाल विधेयक की मांग को लेकर आमरण अनशन पर बैठे सामाजिक कार्यकर्ता अण्णा हजारे के समर्थन में उदयपुर के नागरिकों ने भी मुहिम छेड़ दी है। डॉ. मोहनसिंह मेहता मेमोरियल ट्रस्ट के तत्वाधान में आयोजित जनलोकपाल विधेयक विशयक संगोष्ठी का आयोजन किया गया । संगोष्ठी में स्वतंत्रता सैनानी हुकमराज मेहता तथा गांधी मानव कल्याण समिति के निदेशक मदन नागदा ने कहा कि अण्णा हजारे के संघर्ष से भ्रष्टाचार मुक्ति की नागरिक मुहिम एक रचानात्मक व सफल मुकाम तक पहुंचेगी। 

विद्याभवन पॉलीटेक्निक के प्राचार्य अनिल मेहता तथा डॉ. मेाहनसिंह मेहता मेमोरियल ट्रस्ट के सचिव नंद किशोर ने कहा कि समावेशी, सहभागी तथा सतत विकास के लिये भ्रष्टाचार मुक्ति अन्यन्त जरूरी है। हजारे की नागरिक सहभागीता मुहिम देश की प्रगति में एक सेापान साबित हेागा। इन्स्टीट्यूशन ऑफ इन्जीनियर्स के पूर्व अध्यक्ष शांतिलाल गोदावत तथा मत्स्य विभाग के  पूर्व उपनिदेशक इस्माइल अली दुर्गा ने कहा कि हजारे की मुहिम ने भ्रष्टाचार से चिंतित नागरिकों में एक नया जोश भरा है। 

आस्था संस्थान के निदेशक  भंवरसिंह चदाणा तथा समता संदेश पत्रिका के प्रधान सम्पादक  हिम्मत सेठ ने कहा कि समता मूलक समाज की स्थापना का स्वप्न भ्रष्टाचार मुक्त भारत सेें ही पुरा हो सकेगा। प्रकृति केन्द्रित मानव विकास मंच के सचिव मन्नाराम  डांगी तथा सामाजिक चिन्तक रविभण्डारी ने कहा कि पूरी व्यवस्था में भ्रष्टाचार व्याप्त है। इसे बदलने  के लिये नागरिकों का सशक्तिकरण जरूरी है। सेवा मंदिर के सचिव गोवर्धनसिंह झाला तथा चांदपोल नागरिक समिति के सचिव तेजशंकर पालीवाल ने कहा कि देश में कई अच्छे कानून बने हुए है लेकिन उनकी  क्रियान्विति कमजेार है। जन लोकपाल विधेयक क्रियान्विति योग्य जनसभागिता वाला मसौदा है। 

संगोष्ठी में हाजी सरदार मोहम्मद, भंवरसिंह राजावत, एम.एस. राणावत, आर.के. वर्मा, मनीष गोल्छा, शंकर पारीक, प्रकाश तिवारी, बलवन्त सिंह राठौड, अब्दूल रहमान सहित कई जागरूक नागरिकों ने विचार व्यक्त किए। संगोष्ठी के प्रारम्भ मे षायर मुष्ताक चंचल ने  भ्रष्टाचार मुक्ति विशयक कविता पाठ किया ।

सूचना:-
अनिल मेहता    नंदकिशोर शर्मा
9414168945     9414160960

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here