Latest Article :
Home » , » राजेश भंडारी की एक मालवी कविता

राजेश भंडारी की एक मालवी कविता

Written By ''अपनी माटी'' वेबपत्रिका सम्पादन मंडल on शुक्रवार, मई 27, 2011 | शुक्रवार, मई 27, 2011

 (इस कविता के ज़रिए भले ही राजेश जी ने अपनी बात कही है मगर ये बात पाठक साथियों,आपको कितनी सच लगती है..अगर ये सच भी है तो क्या उन्हें अपनी रुचियाँ पूरने का हक नहीं है.जिस देश में सब व्यस्त  हैं  अपने घर बनाने में तो भला उस मस्त मौला खेतिहर-किसान जात के लोगों को कभी तो हाट-बाज़ार का आनंद लेने दे हम-आपकी प्रतिक्रियाओं के इंतज़ार में हम और ये कविता भी -सम्पादक )

अन बाटक्या के बाट्की मिली गी तो पानी पि पि के मरे 

हाट  करने अनाज की पोटली माथा पे ली के जाता 
एक हाथ में तेल को डब्बोंए दूसरा हाथ में  छाता
चार  आना की जलेबी ली के बाट पे  बठी के खाता
अब तो पन्दरा लाख की गाड़ी में मॉल से खरीदी करे 
अन बाटक्या के बाट्की मिली गी तो पानी पि पि के मरे 

नि मिलतो थो  कदी साबू सोडो एअबे शेम्पू से नाहवे 
देक्वा में मुंडो हे  तवा को पेन्दोए खूब पावडर लगावे 
अरे कई गधा  के न्ह्वावावा से कई घोडा को काम करे 
अन बाटक्या के बाट्की मिली गी तो पानी पि पि के मरे 

पेला पेरता था लठ्ठा की धोती ने पाव में चमारी जूती
पोप्लिन को कमीज पेरता ने अन्दर होती बंडी  सूती 
अब तो पिट्टर इंग्लेंड ने रीबोक से निचे पाव नि धरे 
अन बाटक्या के बाट्की मिली गी तो पानी पि पि के मरे 

रोज सवेरे बक्खर ली के खेत जोतवा जाता 
माथा पे चारा को भारो रोज उठाई के लाता
अब तो सगळा का सगळा साब  हुइग्या 
आई  को लोट्यो आई नि धरे 
अन बाटक्या के बाट्की मिली गी तो पानी पि पि के मरे 


  राजेश भंडारी 'बाबू' १०४,
 महावीर नगर ,इंदौर   फ़ोन ९००९५०२७३४

Share this article :

1 टिप्पणी:

संस्थापक:माणिक

संस्थापक:माणिक
अपनी माटी ई-पत्रिका

सम्पादक:जितेन्द्र यादव

सम्पादक:जितेन्द्र यादव
अपनी माटी ई-पत्रिका

एक ज़रूरी ब्लॉग

एक ज़रूरी ब्लॉग
बसेड़ा की डायरी:माणिक

यहाँ आपका स्वागत है



ज्यादा पढ़ी गई रचना

यहाँ क्लिक करके हमारी डाक नि:शुल्क पाएं

Donate Apni Maati

रचनाएं यहाँ खोजिएगा

हमारे पाठक साथी

सम्पादक मंडल

साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक ई-पत्रिका
'अपनी माटी'
========
प्रधान सम्पादक
सम्पादक
सह सम्पादक
तकनिकी प्रबंधक
========
संपर्क
apnimaati.com@gmail.com
========

ऑनलाइन

Donate Us

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template