जंतर मंतर पर अब भोजपुरी वाले भी - अपनी माटी ई-पत्रिका

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

जंतर मंतर पर अब भोजपुरी वाले भी

संविधान के ८ वी अनुसूची में भोजपुरी भाषा को शामिल करने के लिए ४ अगस्त २०११ को दिल्ली के जंतर मंतर पर विशाल धरना प्रदर्शन का आयोजन करने का फैसला लिया गया है. इस आन्दोलन को देश-विदेश के भोजपुरिया समाज और भोजपुरी संस्थाए मिलकर आयोजित कर रही है. दिल्ली के पूर्वांचल एकता मंच - दिल्ली इस आन्दोलन के लिए जी जान से लगी है ..... देश विदेश के समूचे भोजपुरिया समाज से निहोरा कर रही है की इस आन्दोलन में शामिल हो आन्दोलन को सफल बनाये...... और देश विदेश के सभी संस्थाओ ने इस आन्दोलन में शामिल होने के लिए आ रहे है ... रांची से बी एन तिवारी भाई जी भोजपुरिया, कोल्कता से अनिल ओझा नीरद, सासाराम से गुरुचरण सिंह, लखनऊ से मनोज श्रीवास्तव, आगरा से अशोक चौबे, सहित भोजपुरी फिल्मो के कई जानी-मानी हस्तिया धरना प्रदर्शन में शामिल होकर अपनी आवाज़ बुलंद करेंगे.हिंदी के बाद भोजपुरी बोलने वाली की संख्या सबसे अधिक है फिर भी आजतक भोजपुरी को ८ वी अनुसूची में नहीं किया गया. जिससे भोजपुरिया समाज में बहुत रोष है. अब भोजपुरिया समाज आर पार की लड़ाई लड़ने के लिए बिगुल बजा चूका है 

 योगदानकर्ता / रचनाकार का परिचय :-

ओम पुरोहित 'कागद' 
कवि और संस्कृतिकर्मी 

SocialTwist Tell-a-Friend

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here