चित्तौड़ में मधुस्मिता के ओडिसी ने मन मोहा - अपनी माटी 'ISSN 2322-0724 Apni Maati'

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित ई-पत्रिका

नवीनतम रचना

चित्तौड़ में मधुस्मिता के ओडिसी ने मन मोहा

चित्तौड़गढ़. 24 अगस्त,2011 

स्पिक मैके की चित्तौड़ शाखा के तत्वावधान में ही एक ओडिसी नृत्य आयोजन बुधवार सुबह ग्यारह बजे पारसोली स्थित राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में उमंग और ज्ञानवर्धन के साथ पूरा हुआ.युवा नर्तकी मधुस्मिता मोहंती ने आंगिक  मुद्राओं से शुरू करके गणपति वंदना कर विद्यार्थियों को अपनी प्रस्तुति से जोड़ लिया.बाद में उन्होंने त्रिभंगी मुद्रा,लोकप्रीय उडिया रचना पल्लवी की. अंत में पक्षियों के अभिनय करते हुए नवरसों के भाव प्रदर्शन पर जाकर पूरा हुआ.

इस आयोजन के सूत्रधार स्पिक मैके दक्षिणी राजस्थान के समन्वयक जे.पी.भटनागर और स्कूल प्राचार्य  रामस्वरूप वर्मा ने बताया कि कलाकारों के अभिनन्दन और दीप प्रज्ज्वलन में प्रकाश नागौरी,दोलतराम,भाच्चुराम ने प्रमुख भूमिका निभाई.कलाकारों के मंडल में गायिका हरिप्रिया स्वेन,मृदला वादक विजय कुमार बारीक और बांसुरी वादक जवाहर मिश्र साथ थे.चित्तौड़ नगर के बाहर भी स्पिक मैके की गतिविधियों को ले जाने में ये प्रस्तुति सफल रही. 


योगदानकर्ता / रचनाकार का परिचय :-

माणिक, 
वर्तमान में राजस्थान सरकार के पंचायतीराज विभाग में अध्यापक हैं.'अपनी माटी' वेबपत्रिका सम्पादक है,साथ ही आकाशवाणी चित्तौड़ के ऍफ़.एम्.  'मीरा' चैनल के लिए पिछले पांच सालों से बतौर नैमित्तिक उदघोषक प्रसारित हो रहे हैं.उनकी कवितायेँ आदि उनके ब्लॉग 'माणिकनामा' पर पढी जा सकती है.वे चित्तौड़ के युवा संस्कृतिकर्मी  के रूप में दस सालों से स्पिक मैके नामक सांकृतिक आन्दोलन की राजस्थान इकाई में प्रमुख दायित्व पर हैं.


SocialTwist Tell-a-Friend

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here