Latest Article :
Home » , , , , » ''भ्रष्टाचार से भारत का आम नागरिक तुरन्त निजात चाहता है''-सामाजिक कार्यकर्ता सुशील दशोरा

''भ्रष्टाचार से भारत का आम नागरिक तुरन्त निजात चाहता है''-सामाजिक कार्यकर्ता सुशील दशोरा

Written By 'अपनी माटी' मासिक ई-पत्रिका (www.ApniMaati.com) on मंगलवार, अगस्त 30, 2011 | मंगलवार, अगस्त 30, 2011


उदयपुर, 29 अगस्त
प्रजातांत्रिक व्यवस्था को मजबूती प्रदान करने में आम नागरिकों की महती भूमिका अन्ना हजारे के आंदोलन के दौरान साकार रूप से परिलक्षित हुई है। भ्रष्टाचार से भारत का आम नागरिक तुरन्त निजात चाहता है। उक्त विचार डॉ. मोहन सिंह मेहता मेमोरियल ट्रस्ट द्वारा आयोजित ‘‘प्रजातंत्र और नागरिक दायित्व’’ विषयक संवाद में व्यक्त किये गये।  संवाद की अध्यक्षता करते हुए सामाजिक कार्यकर्ता सुशील दशोरा ने कहा कि भ्रष्टाचार का सर्वव्यापी होना देश के लिये खतरनाक है। भ्रष्टाचार को नेस्तनापुत करने के लिए सशक्त कठोर कानून की जरूरत है।  नाद्रब्रह्म के हेमन्त मेनारिया ने कहा कि वर्तमान भारत के युवाओं को आदर्श विहिन समाज में अन्ना के रूप में एक छवि नजर आई है तथा एक आशा बंधी है कि भ्रष्टाचार रूपी दावानल को खत्म किया जा सकता है। 

रंगकर्मी शिवराज सोनवाल ने कहा कि  आम नागरिक का जीवन व्यवस्थागत भ्रष्टाचार का शिकार हो गया है। भ्रष्टाचार के कुचक्र से युवा दीशाहीन होकर अपराध के बिहडेा में अपना भविष्य तलाश रहा है। इससे मुक्ति हेतु कठोर लोकपाल कानून की जरूरत है। युवा छात्र अमित श्रीमाली तथा अनिल दाधिच ने व्यक्तिगत स्तर पर ईमानदार होने तथा भ्रष्टाचारी के सामाजिक बहिस्कार की जरूरत  बतलाई। 

वरिष्ठ नागरिक सोहनलाल तम्बोली एवं भंवर सिंह राजावत ने वर्तमान व्यवस्था को भ्रष्टाचार का भाग बतलाते हुए लोकपाल कानून को शीघ्र बनाने की जरूरत बतलाई। नवीन जीनगर एवं युवा नेता राजेन्द्रसिंह ने कहा कि अन्ना हजारे को मिला जन समर्थन जन पीड़ा को बतलाता है। भ्रष्टाचार के खात्में के लिये कठोर कानून और इसके  सही क्रियान्वयन की जरूरत है । चर्चा में बसन्तीलाल कूकड़ा, कुलदीप धाभाई, यश खतुरिया, रमेश नागदा, प्रशान्त, रवि सेन, धनश्याम सिंह, अमित व्यास आदि युवाओं ने भाग लेते हुए लोकपाल काूनन को शीघ्र बनाने एवं कठोरता से लागू करने की आवश्यकता बतलाई। संवाद के प्रारम्भ में ट्रस्ट सचिव नन्दकिशोर शर्मा ने ‘‘प्रजातंत्र और नागरिक दायित्व विषयक संवाद एवं अन्ना हजारे के आंदोलन पर प्रकाश डाला। धन्यवाद नितेश सिंह ने ज्ञापित किया।  


योगदानकर्ता / रचनाकार का परिचय :-

नंद किशोर शर्मा
मोहन सिंह मेहता मेमोरियल ट्रस्ट सचिव
संपर्क सूत्र :-0294&3294658, 2410110 ,
msmmtrust@gmail.com,
SocialTwist Tell-a-Friend
Share this article :

संस्थापक:माणिक

संस्थापक:माणिक
अपनी माटी ई-पत्रिका

सम्पादक:जितेन्द्र यादव

सम्पादक:जितेन्द्र यादव
अपनी माटी ई-पत्रिका

एक ज़रूरी ब्लॉग

एक ज़रूरी ब्लॉग
बसेड़ा की डायरी:माणिक

यहाँ आपका स्वागत है



ज्यादा पढ़ी गई रचना

यहाँ क्लिक करके हमारी डाक नि:शुल्क पाएं

Donate Apni Maati

रचनाएं यहाँ खोजिएगा

हमारे पाठक साथी

सम्पादक मंडल

साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक ई-पत्रिका
'अपनी माटी'
========
प्रधान सम्पादक
सम्पादक
सह सम्पादक
तकनिकी प्रबंधक
========
संपर्क
apnimaati.com@gmail.com
========

ऑनलाइन

Donate Us

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template