Latest Article :
Home » , , , , , » चित्तौड़ में अन्ना हजारे आन्दोलन की तीन दिनी रपट

चित्तौड़ में अन्ना हजारे आन्दोलन की तीन दिनी रपट

Written By 'अपनी माटी' मासिक ई-पत्रिका (www.ApniMaati.com) on रविवार, अगस्त 21, 2011 | रविवार, अगस्त 21, 2011

राष्ट्रव्यापी आन्दोलन के सम्बन्ध में जिला मुख्यालय पर नगर के नागरिकों बुद्धिजीवियों एवं विभिन्न संगठनों के साथ ही राष्ट्रवादी और रचनात्मक सामाजिक कार्यकर्ताओं ने दिन भर कलेक्ट्रेट के बाहर धरना दिया। पहले दिन स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता गंगाधर सोलंकी और युवा कार्यकर्ता शांतिलाल छीपा अनशन पर बैठे। जिसे भरपूर समर्थन मिला।

  17 अगस्त को शिक्षाविद डॉ. ए.एल. जैन, पर्यावरणविद् भगवतसिंह तंवर, सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती पदमा दशोरा, युवा छात्रा छवी अग्रवाल अनशन पर सुबह 10 बजे बैठे  एवं शाम 4 बजे एकत्रित जनसमूह द्वारा राष्ट्रपति के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया  शाम साढ़े 7 बजे एक विशाल मशाल जुलूस गांधी चौक से निकलेगा जो जिला कलेक्ट्रेट स्थित अनशन स्थल पर संक्षिप्त सभा के रूप में पूरा हुआ । अनशन के पहले ही दिन नगर की लगभग सभी सामाजिक, धार्मिक संगठनों ने आन्दोलन को समर्थन देते हुए मशाल जुलूस में शामिल होने का अपना कर्त्तव्य बताया एवं भ्रष्टाचार के विरूद्ध लड़ाई लड़ने वाले अन्ना हजारे के आन्दोलन को भरपूर समर्थन देने की बात की ताकि देश भ्रष्टाचार से मुक्त हो एवं आने वाली पीढ़ियां इस देश पर गर्व कर सकें।

हजारे के आह्वान पर जन लोकपाल बिल एवं भ्रष्टाचार हटाओ को लेकर सत्याग्रह आंदोलन के दूसरे दिन पूर्वाचार्य ए.एल. जैन, पर्यावरणविद् भगवतसिंह जी तंवर, सामाजिक कार्यकर्ता श्रीमती पद्मा दशोरा एवं बहिन श्रीमती छवि अग्रवाल ने अनशन पर बैठकर आज के आंदोलन का गणेश किया। इस अवसर पर विभिन्न सामाजिक, राजनैतिक एवं धार्मिक संगठनों ने अन्ना हजारे जी के इस आंदोलन की अनशन स्थल पर पहुंच कर सराहना की एवं तन मन धन से सहयोग देने का शुभ संकल्प लिया।

विश्व मित्र जन सेवा समिति अन्तर्राष्ट्रीय सनत कृष्णानन्द जी ने अनशन स्थल पर अपनी गरिमामयी उपस्थिति दी एवं अन्ना  के दीर्घ जीवन की कामना करते हुए अपने प्रवचन में देश में लोकतन्त्र की दुर्दशा पर गंभीर चिंता प्रकट की एवं सभी साधु समाज को आह्वान किया कि वे इस धर्मयुद्ध में जनता के साथ आगे आयें और देश को भ्रष्टाचार से मुक्त कराने में सहयोग करें। सभा स्थल को डॉ. योगेश व्यास, बी.एस. राव, डॉ. चेतन खमेसरा, एडवोकेट रजदीश जीतलिया,  वृद्धिचंद जैन,  चान्दमल गर्ग,  मोहम्मद आरीफ सचिव ओमप्रकाश ने संबोधित कर आंदोलन में हर प्रकार से सहयोग का विश्वास दिलाया।

इस अवसर पर डॉ. महेश सनाढ्य, श्रीमती अमित छीपा, डॉ. रमेश दशोरा, राजीव जोशी, एडवोकेट विजय पुरोहित, रेडीमेड वस्त्र संघ के हस्तीमल चंडालिया, पूर्व आचार्य आर.एस. मंत्री, हिन्दुस्तान जिंक के  राहुल त्रिवेदी,  सुधीर भटनागर,  द्वारका मालीवाल, कॉमरेड भंवरलाल जी बापना, प्रयास संस्था के डॉ. नरेन्द्र गुप्ता, जयप्रकाश दशोरा,  के.एल. श्रीमाली, गुरूविन्दरसिंह ने भी संबोधित किया। रात्रि को विशाल मशाल जुलुस निकाल कर जन चेतना का शंखनाद किया गया। अनशन स्थल पर यह भी निर्णय लिया गया कि 18 अगस्त को पूर्ववत कर्मिक अनशन जारी रखागया ।

चित्तौड़गढ़ भ्रष्टाचार हटाओ समिति ने यह भी निर्णय के अनुसार 19 अगस्त को चित्तौड़गढ़ नगरपालिका क्षेत्र में प्रातः 9 बजे से 12 बजे तक बाजार बंद कर अन्ना हजारे जी के हाथ मजबूत किया गए । समिति नगर के सभी व्यापारिक संगठनों से निवेदन करती है कि कृपया आप बाजार बंद रखने की कृपा करावें। समिति नगरवासियों से यह भी विनम्र निवेदन करती है कि आप रात्रि को 15 मिनिट बिजली बंद रख कर विरोध प्रकट करें।

अन्ना हजारे जी द्वारा प्रस्तावित जन लोकपाल विधेयक के समर्थन में चित्तौड़गढ़ सिविल सोसाइटी (चित्तौड़गढ़ अग्रेस्ट करप्शन) के आह्वान पर समस्त व्यापारी संगठनों द्वारा दोपहर 12 बजे तक चित्तौड़गढ़ बन्द किया गया। जानकारी देते हुए प्रो. ए.एल. जैन व जे.पी. दशोरा ने बताया कि चित्तौड़गढ़ बन्द ऐतिहासिक एकता की मिशाल रही। सभी व्यापारियों ने स्वेच्छा से बन्द किया। सुबह 10 बजे मनिहारी कास्मेटिक एसोसिएशन, हाथ ठेला/व्यवसायी संघ, किराणा व्यापार संघ, रेडीमेड होजरी एसोशिएशन, इलेक्ट्रीकल गुड्स एसोसिएशन, सर्राका व्यापार संघ, मोटर मैकेनिक एसोशिएशन, ऑटो चालक संघ, पुस्तक विक्रेता संघ, प्रिन्टिंग प्रेस व्यवसायी संघ, ऑटो पार्ट्स एसोसिएशन, खाद्य सामग्री विक्रेता संघ, बार एसोशिएशन, स्वर्णकार व्यवसाय संघ, ट्रांसपोर्ट व्यापार एसोशिएशन, जेनेट्री एसोशिएशन, मार्बल एसोशिएशन आदि के प्रतिनिधियों ने गांधी चौक से कलेक्ट्री तक जुलुस निकाल कलेक्ट्री पर पहुंच सभी वरिष्ठ व्यक्तियों द्वारा महात्मा गांधी की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर अनशन पर बैठे शोभालाल, एडवोकेट ओमप्रकाश शर्मा, आरिफ अली, कालूलाल सुथार, प्रकाश गुर्जर, श्यामलाल टेलर भादसोड़ा का अभिनन्दन किया। कलेक्ट्री चौराहे पर समस्त लोगों ने विशाल मानव शंृखला बनाकर अन्ना हजारे जिन्दाबाद, वन्देमातरम् के नारे लगाए।

धरना स्थल पर वृद्धिचन्द जैन, सुरेन्द्रसिंह सोनी, ओमप्रकाश मानधना, ओमप्रकाश शर्मा, सुनील जागेटिया, शोभालाल दशोरा, आरिफ अली, गंगाधर सोलंकी, प्रकाश गुर्जर, मनोज भरसन, अभिषेक गर्ग, छवि अग्रवाल, कालुलाल सुथार, कन्हैयालाल खण्डेलवाल, डॉ. योगेश व्यास, रजनीश पितलिया, श्यामलाल शर्मा, बद्रीगिरी गोस्वामी, चंचल कुमार गर्ग, आर.सी. पालीवाल, किशनसिंह, बगदीराम ने संबोधित किया। अनशन स्थल पर भंवरलाल सिसोदिया नित्यानंद जिन्दल, प्रहलाद पटवा, नवरतन पटवारी, प्रदीप काबरा, विकास अग्रवाल, भोलाराम प्रजापत, सुरेश झंवर, धनपालसिंह, रवि चतुर्वेदी सहित बडी संख्या में लोग उपस्थित थे। संचालन सत्यनारायण समदानी ने किया।

20 अगस्त को दम्पति युगल श्यामलाल गील, सुशीला गील, राजेश जोशी एडवोकेट, इन्द्रलाल आमेटा, सुरेन्द्रसिंह सोनी, परमजीत सिंह, सुशील सिंह, जसपाल सिंह, हरमीत सिंह, कानेश याज्ञिक, चन्द्रकिशोर व्यास व गिरधारी लाल जाट अनशन पर बैठे .अन्ना हजारे के जन लोकपाल बिल को लागू करने के समर्थन में सिविल सोसाइटी द्वारा दिनांक 16 अगस्त से प्रारम्भ अनशन में 20 अगस्त को श्यामलाल गिल, श्रीमती सुनिता गिल, इन्द्रलाल आमेटा, राजेश जोशी, श्यामलाल शर्मा, अर्जुन तिवारी, छीतरमल टेलर, श्रीमती कान्ता टेलर, चन्द्रकिशोर व्यास, पंच प्यारे, सुरन्देसिंह सोनी, परमजीतसिंह, सुरजीतसिंह, जसपालसिंह एवं हरमीतसिंह क्रमिक अनशन पर बैठे। पंच प्यारे सिख समाज के प्रतिनिधियों के साथ गुरू ग्रन्थ साहिब के शबद को गाते हुए ढोल नगाड़े के साथ अनशन स्थल पर पहुंचे। जिसमें महिलाओं की सहभागिता विशेष रूप से प्रशंसनीय थी। अनशन स्थल पर सुबह से ही आन्दोलन के समर्थन में सभी वर्गों के लोगों की आवाजाही बनी रही। 

सिविल सोसाइटी के सत्यनारायण समदानी ने बताया कि आन्दोलन को समर्थन देने हेतु दिनभर वक्ताओं ने संबोधित किया जिनमें डॉ. योगेश व्यास, जोगेन्द्रसिंह होड़ा, शोभालाल दशोरा, कलिश याग्निक, राजेश जोशी एडवोकेट, प्रभात कुमार सिन्हा, रामनिवास गाजरे, श्रीमती आंजना, सन्तोष सिंह सिसोदिया, डॉ. महेश सनाढ्य, कन्हैयालाल खण्डेलवाल, गोरधनलाल पलोड़, नारायणसिंह राव, परमजीतसिंह, सुरेन्द्रसिंह सोनी, श्यामलाल शर्मा, नित्यानंद जिंदल, सुरेन्द्रसिंह मित्तल, रघुनाथसिंह मंत्री, छीतरमल टेलर, नवलसिंह मोदी, श्रीमती कांता टेलर, नवलसिंह मोदी एवं इन्द्रलाल आमेटा थे। सभा में सुप्रसिद्ध कवि मनोज मक्खन ने अपनी ओजस्वी कविताओं से नया संदेश दिया।

सिविल सोसाइटी ने आज से महामहिम राष्ट्रपति के नाम अन्ना हजारे के समर्थन में पोस्टकार्ड अभियान प्रारम्भ किया, जिसमें महामहिम को देशहित में जन लोकपाल बिल को पारित करवाने का अनुरोध किया गया। शनिवार 21 अगस्त को शरद सोनी, श्रीमती कान्ता सोनी, सुश्री श्रुति अग्रवाल, कानेश यान्ज्ञिक, सुश्री योगीता, रजनी पीतलीया को अनशन पर बैठेगें।   
योगदानकर्ता / रचनाकार का परिचय :-
डॉ. ए. एल. जैन
चित्तौड़ नगर के शिक्षाविद हैं.जो कोलेज शिक्षा से सेवानिवृत प्राचार्य हैं.वर्तमान में भगवान् महावीर मानव समिति चित्तौड़गढ़ के 
अध्यक्ष,मीरा स्मृति संस्थान के सह सचिव,स्पिक मैके के वरिष्ठ सलाहकार होने के साथ ही वे इस आन्दोलन में संयोजन मंडल में हैं.

draljain@gmail.com,9414109779
SocialTwist Tell-a-Friend
Share this article :

'अपनी माटी' का 'किसान विशेषांक'


संस्थापक:माणिक

संस्थापक:माणिक
अपनी माटी ई-पत्रिका

सम्पादक:जितेन्द्र यादव

सम्पादक:जितेन्द्र यादव
अपनी माटी ई-पत्रिका

सह सम्पादक:सौरभ कुमार

सह सम्पादक:सौरभ कुमार
अपनी माटी ई-पत्रिका

यहाँ आपका स्वागत है



यहाँ क्लिक करके हमारी डाक नि:शुल्क पाएं

Donate Apni Maati

रचनाएं यहाँ खोजिएगा

हमारे पाठक साथी

सम्पादक मंडल

साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक ई-पत्रिका
'अपनी माटी'
========
प्रधान सम्पादक
सम्पादक
सह सम्पादक
तकनिकी प्रबंधक
========
संपर्क
apnimaati.com@gmail.com
========

ऑनलाइन

Donate Us

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template