चित्तौड़ में अनंतचतुर्दर्शी:फोटो रिपोर्ट - अपनी माटी

नवीनतम रचना

सोमवार, सितंबर 12, 2011

चित्तौड़ में अनंतचतुर्दर्शी:फोटो रिपोर्ट


चित्तौड़गढ़ में कल गणपति महोत्सव की 25 वर्ष पूरे हुये । धार्मिक सदभाव के साथ गणपति बप्पा पहली बार अपने उफान पर बहती गंभीरी में मस्ती के मुड में अगले बरस फिर रिद्धी सिद्धी के साथ जल्दी आने का वादा कर विदा हूये । गणपति महोत्सव सिर्फ धार्मिक आयोजन के रूप में ही नहीं बल्कि सांस्कृतिक झलक का अहसास भी दे गये ............सेठ तो सेठ सावलियां बाकी सब डुप्लीकेट...............................मूं तो नांचू बाबा थारा दरबार में.......................दिवाना राधे का...................मां तूझे सलाम............मोरिया रे बप्पा मोरिया.....जैसे गीतों पर युअओं बुजूर्गो के उत्साह के साथ मुस्लिम भाईयों की मनमोहक थिरकन एक सकारात्मक सांस्कृतिक आन्दोलन की गवाह बनी ।













योगदानकर्ता / रचनाकार का परिचय :-

विकास अग्रवाल
09414374339
aggrawalvikas@gmail.com
SocialTwist Tell-a-Friend

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here