सोलह सितम्बर को सास्किया राव का सेलो वादन चित्तौड़ में - अपनी माटी ई-पत्रिका

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

सोलह सितम्बर को सास्किया राव का सेलो वादन चित्तौड़ में

स्पिक मैके की चित्तौड़ शाखा द्वारा अपनी विरासत आयोजन की श्रृंखला में सोलह सितम्बर,2011 का दिन नीदरलेंड की सास्किया राव के सेलो वादन के नाम रहेगा. समन्वयक जे.पी.भटनागर और प्रायोजक संस्थान हिंद जिंक स्कूल के प्राचार्य बी.एन.कुमार ने बताया कि प्रस्तुति को लेकर तैयारिया कर ली गयी है.यूरोपीय वाद्य यन्त्र सेलो पर भारतीय शास्त्रीय संगीत बजाने वाली सास्किया लोकप्रिय सितारवादक पंडित शुभेन्द्र राव की पत्नी और शिष्या हैं.वे दोपहर एक बजे जिंक नगर के कम्युनिटी होल में अपनी प्रस्तुति देगी.

नवाचारी कौशल के ज़रिये वे विश्व भर में बहुत सराही गयी है.उन्होंने वादन की अपनी विलग स्टाईल इजाद की है.एमस्तार्दम में पानी कोलेज शिक्षा के दौरान उन्हें शास्त्रीय संगीत ने आकर्षित किया और वे उन्नीस सौ चौरानवे से ही ये संगीत सीख रही है.उन्होंने ये कला पंडित डी.के.दातार,पंडित हरी प्रसाद चौरसिया और पंडित दीपक चौधरी से सीखी है.मात्र आठ साल की उम्र से ही संगीत की तरफ झुकाव वाली सास्किया राव मिहर घराने की स्टाईल को अनुकरण कर रही हैं.

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here