कविता समय सम्मान-2012 की घोषणा - अपनी माटी ई-पत्रिका

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

कविता समय सम्मान-2012 की घोषणा


कविता समय सम्मान 2012  हिंदी के वरिष्ठ कवि इब्बार रब्बी को और कविता समय युवा सम्मान 2012 युवा कवि प्रभात को जनवरी में जयपुर में हो रहे दूसरे सालाना आयोजन में दिया जायेगा. यह सम्मान प्रतिलिपिऔर “दखल विचार मंचके सहयोग से हिंदी कविता के प्रसार, प्रकाशन और उस पर विचार विमर्श के लिए 2011 में ग्वालियर में  बोधिसत्व, गिरिराज किराडू और अशोक कुमार पाण्डेय द्वारा स्थापित मंच  कविता समय की ओर से दिये जाते हैं। कविता समय सम्मान के तहत एक प्रशस्ति पत्र और पाँच हजार रुपये की राशि तथा कविता समय युवा सम्मान  के तहत एक प्रशस्ति पत्र और ढाई  हजार रुपये की राशि प्रदान की जाती है.


कविता समय सम्मान हर वर्ष ६० वर्ष से अधिक आयु के एक वरिष्ठ कवि को दिया जाता है जिसकी कविता ने निरंतर मुख्यधारा कविता और उसके कैनन को प्रतिरोध देते हुए अपने ढंग से, अपनी शर्तों पर एक भिन्न काव्य-संसार निर्मित किया हो और हमारे-जैसे कविता-विरोधी समय में निरन्तर सक्रिय रहते हुए अपनी कविता को विभिन्न शक्तियों द्वारा अनुकूलित नहीं होने दिया हो. कविता समय युवा सम्मान ४५ वर्ष से कम आयु के पूर्व में अपुरस्कृत ऐसे कवि को दिया जाता है जिसकी कविता की ओर, उत्कृष्ट संभावनाओं के बावजूद,  अपेक्षित ध्यानाकर्षण न हुआ हो.


यहाँ बोधिसत्व के फेसबुक अपडेट से एक रचना उनके मन के विचार के साथ 

प्रभात से कभी मिला नहीं न बात ही हुई। कल सुबह फोन किया फिर रुक गया। एक संकोच है। आखिर एक कवि से अब तक बात नहीं किया तो क्यों। जबकि मैं खोज-खोज कर कवियों को फोन लगाता रहता हूँ। खैर। प्रभात को आलोचना, प्रतिलिपि, अनुनाद, कविता कोश और यत्र-तत्र पढ़ता रहा। हर पढ़ाई के बाद उनकी कविता का मुरीद होता रहा। उनकी बहुत सारी कविताओं के साथ यह कविता मुझे बेहद पसंद है। उन्हें कविता समय युवा सम्मान-2012 की बधाई देते हुए इसे आप भी पढ़ें। 

गीला भीगा पुआल

कौन आ रहा है हरे गेहुओं के कपड़े पहन कर
कौन ला रहा है सरसों के फूलों के झरने
किसने खोला दरवाजा बर्फानी हवाओं का
कैसे चू आए एकाएक रात की आँख से खुशी के आँसू।

ओह शिशिर
तुम आ गये

आओ आओ
यहाँ बैठो
त्वचा के बिल्कुल करीब

यहाँ आंगन में लगाओ बिस्तरा
गीला-भीगा पुआल।


ग्वालियर से शुरू हुआ कविता समय का आयोजन अब एक सालाना आयोजन में तब्दील हो चूका है.
इसका अगला आयोजन जयपुर में होगा 


योगदानकर्ता / रचनाकार का परिचय :-
अशोक कुमार पाण्डेय 
  • जन्म:-चौबीस जनवरी,उन्नीस सौ पिचहत्तर 
  • लेखक,कवि और अनुवादक
  • भाषा में पकड़:-हिंदी,भोजपुरी,गुजराती और अंग्रेज़ी 
  • वर्तमान में ग्वालियर,मध्य प्रदेश में निवास 
  • उनके ब्लॉग:http://naidakhal.blogspot.com/
  • http://asuvidha.blogspot.com
सदस्य संयोजन समिति,कविता समय


SocialTwist Tell-a-Friend

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here