सादगी और संजीदगी के साथ सफ़र करता युवा भगवती लाल सालवी - अपनी माटी 'ISSN 2322-0724 Apni Maati'

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित ई-पत्रिका

नवीनतम रचना

सादगी और संजीदगी के साथ सफ़र करता युवा भगवती लाल सालवी


यहाँ इस ऑडियो के बहाने अपनी माटी प्रोजेक्ट के तहत इस युवा प्रतिभा से माणिक ने लम्बी बातचीत की है.बातों में बहुत से स्थान पर समय के साथ बदलते जीवन में खुशियाँ संजोने के तौर-तरीके भी जानने को मिलेंगे.साथ ही हम एक ग्रामीण संस्कृति के प्रहरी युवा के जीवन के बहाने बहुत से युवाओं के जीवन की कहानी सुन-समझ सकेंगे.सुनने में दिक्कत हो तो यहाँ क्लिक कर सकते हैं.-संपादक 


भगवती लाल सालवी चित्तौड़ की युवा प्रतिभा के तौर पर एक पहचान.रोजी-रोटी के लिए अध्यापकी करते हैं.शौकियाना साल दो हज़ार सात से ही आकाशवाणी चित्तौड़ में ही आकस्मिक उदघोषक हैं.खुद को गाँव और प्रकृति के बहुत नज़दीक पाते हुए जीवन सफ़र तय कर रहे हैं.गीत-ग़ज़ल में कोलेज के ज़माने से ही गहरी रूचि है.

गृहस्त जीवन में भी कभी कभार घुमक्कड़ी और फकीरी के लिए समय निकालना इनकी रुचियाँ में शामिल है.सादगी और संजीदगी के साथ इन्हें कई बार चित्तौड़ के मीरा चैनल पर सुना जा सकता है.संपर्क करने हेतु फेसबुक खाता और मो. नंबर ये 9460608977 हैं.


माणिक,

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here