कविता पोस्टर:'कभी चाँद के घर में भी रहो' - अपनी माटी

नवीनतम रचना

शुक्रवार, अक्तूबर 19, 2012

कविता पोस्टर:'कभी चाँद के घर में भी रहो'

कवि मीडियाकर्मी कुबेर दत्त कि हस्तलिखित कविताओं और पेंटिंग के आधार पर  ये पोस्टर कुबेर दत्त स्मृति आयोजन के लिए बनाये गए हैं. जो कल यानी 20 अक्टूबर,2012 को गाँधी शांति प्रतिष्ठान में शाम 5.30 बजे आयोजित हो रहा है। इसे ग्राफिक डिजाइनर रामनिवास ने डिजाइन किया है।











कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here