अनिश्चितकालीन उपवास:मज़दूरों एक जाओ Vaya लखनऊ - अपनी माटी ई-पत्रिका

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

अनिश्चितकालीन उपवास:मज़दूरों एक जाओ Vaya लखनऊ


मजदूर किसान व गरीब बच्चों की शिक्षा सम्बन्धित मांगों को लेकर 
23 दिसम्बर, 2012, 
से अनिश्चितकालीन उपवास

उपवास स्थलः विधान भवन के सामने धरना स्थल पर, लखनऊ
 
निम्नलिखित मांगों को लेकर उपवास का कार्यक्रम लिया जा रहा है।

1. असंगठित क्षेत्र की न्यूनतम आय रु. 11,000 प्रति माह या रु. 440 प्रति
दिन हो। न्यूनतम मजदूरी उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के अनुसार परिवर्तित हो।

2. यह चिंता का विषय है कि पिछली गेहूं खरीद में किसानों को शायद ही कहीं
न्यूनतम समर्थन मूल्य रु. 1285 प्रति कुंतल मिल पाया चूंकि सभी जगह
दलालों का बोलबाला रहा। यही हाल इस समय धान खरीद का है। गेंहू व धान खरीद
में हुए घोटाले की सी.बी.आई. से जांच कराई जाए।

3. मुफ्त एवं अनिवार्य शिक्षा के अधिकार अधिनियम के तहत सभी विद्यालयों
में 25 प्रतिशत गरीब बच्चों के आरक्षण की व्यवस्था लागू की जाए ।

4. जगह-जगह होने वाली अवैध वसूली व भर्तियों में घूस पर रोक लगाई जाए।

5. किसान विरोधी मैत्रेय परियोजना रद्द की जाए।

6. आतंकवाद के नाम पर बंद निर्दोष मुस्लिम नवजवानों को रिहा किया जाए।
आर.डी. निमेष जांच रपट सार्वजनिक की जाए।

7. विकलांग बच्चों की शिक्षा हेतु विशेष शिक्षकों की नियुक्ति की किया जाए।

8. प्राथमिक व सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर चिकित्सकों की, जिनमें
दंत शल्य चिकित्सक भी हों, नियुक्ति की जाए।

9. तम्बाकू और शराब पर पूर्णतया प्रतिबंध लगाया जाए।

      इसके अलावा मंहगाई और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने के लिए तत्काल प्रभावी कदम उठाए जाएं।   कृपया इस कार्यक्रम में भाग लेकर मजदूरों, किसानों व गरीब बच्चों के अधिकारों के संघर्ष में भागीदार बनें।
---------------
आयोजकः 
  • सोशलिस्ट पार्टी, 
  • हिन्द मजदूर सभा, 
  • जन आंदोलनों के राष्ट्रीय समन्वय, 
  • लोक राजनीति मंच, 
  • भूमि बचाओ संघर्ष समिति, 
  • रिहाई मंच, विशेष शिक्षक एवं अभिभावक एसोशिएसन 
  • डेण्टिस्ट वेलफेयर एसोशिएसन

सम्पर्क टेलीफोनः 
संजीव पांडे 9918864999, मुन्नालाल शुक्ला 9935458998,
राजीव यादव 9452800752

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here