'कथन' का नया अंक ':'भूमंडलीकरण का इतिहास और इतिहास का भूमंडलीकरण' - अपनी माटी 'ISSN 2322-0724 Apni Maati'

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित ई-पत्रिका

नवीनतम रचना

'कथन' का नया अंक ':'भूमंडलीकरण का इतिहास और इतिहास का भूमंडलीकरण'

 मूल्य : 25रू.(वार्षिक 100)

ई-मेल: 

kathanpatrika@hotmail.com,

फोन/मो. 011.25268341,

सम्पर्क : 

107, अक्षरा अपार्टमेंटस, 

ए3, पश्चिम विहार, 

नयी दिल्ली 110063

'कथन'

जनवरी-मार्च,2013 का नया अंक अब उपलब्ध है।ये साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक पत्रिका जानेमाने जनवादी पत्रिकाओं में शामिल है।'भूमंडलीकरण का इतिहास और इतिहास का भूमंडलीकरण' विषय पर केंद्रित इस अंक में :कथाकार रमेश उपाध्याय के निर्देशन और संज्ञा उपाध्याय के संपादकत्व में निकल रही इस पत्रिका को हाल ही में वनमाली सृजन पीठ सम्मान से नवाज़ा गया है।

  • * रमेश उपाध्याय, प्रियदर्शन और अनिरुद्ध देशपांडे की कहानियाँ
  • * यश मालवीय, कौशल किशोर, शंकरलाल मीणा, देवयानी और चंद्रेश्वर की कविताएँ
  • * मैनेजर पांडेय, जैरी एच. बेंटले, रेनाल्ड रॉबर्टसन के विचार 
  • * 'आज के सवाल' में लालबहादुर वर्मा का साक्षात्कार
  • * 'बाहर खुलने वाली खिड़की' में जाओ दा नियान की दो चीनी कहानियाँ (अनुवाद : जितेन्द्र भाटिया) 
  • * सुरेन्द्र मनन का संस्मरण
  • * 'परदे पर' में जवरीमल्ल पारख का लेख 
  • * 'ज़रुरी किताबें' : 'ग्लोबलाईज़ेशन एंड ग्लोबल हिस्टरी' का परिचय 
  • * नन्द भारद्वाज के कविता संग्रह पर राजेंद्र सिंघवी 
  • *अशोक कुमार पांडेय के कविता संग्रह पर रामजी तिवारी के समीक्षा-लेख
 संज्ञा उपाध्याय

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here