विनय उपाध्याय द्वारा संपादित ‘रंग संवाद‘ को विद्यानिवास मिश्र सम्मान - अपनी माटी

हिंदी की प्रसिद्द साहित्यिक ई-पत्रिका ('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

विनय उपाध्याय द्वारा संपादित ‘रंग संवाद‘ को विद्यानिवास मिश्र सम्मान

भोपाल। 
सुपरिचित मीडियाकर्मी, कला समीक्षक, कवि और उद्घोषक श्री विनय उपाध्याय द्वारा संपादित बहुचर्चित सांस्कृतिक पत्रिका ‘रंग संवाद‘ को हाल ही आचार्य विद्यानिवास मिश्र सम्मान से अलंकृत किया गया। दुष्यंत कुमार स्मृति कृति पांडुलिपि संग्रहालय द्वारा बहुकला केन्द्र भारत भवन में आयोजित गरिमामय समारोह में श्री उपाध्याय को यह सम्मान सिनेमा और रंगमंच के मशहूर अभिनेता पद्मश्री टॉम आल्टर तथा प्रख्यात उपन्यासकार श्री मंजूर एहतेशाम ने भेंट किया। उल्लेखनीय है कि ‘रंग संवाद‘ का प्रकाशन कम्प्यूटर और तकनीकी संस्थान आईसेक्ट के सांस्कृतिक उपक्रम वनमाली सृजन पीठ द्वारा किया जाता है। गत वर्ष इस पत्रिका को माउंट आबू में राष्ट्रीय हिन्दी अकादेमी (कोलकाता) ने हिन्दी की श्रेष्ठ पत्रिका के बतौर सहस्त्राब्दी राजभाषा शील्ड से सम्मानित किया था। श्री उपाध्याय विगत सोलह वर्षों द्वैमासिक पत्रिका ‘कला समय‘ का संपादन भी कर रहे हैं। पूर्व में उन्हें मेन ऑफ द मीडिया, अभिनव शब्द शिल्पी, संवादश्री सहित करीब दो दर्जन उपाधियों तथा सम्मानों से विभूषित किया जा चुका है।

वसंत सकरगाए को वागीश्वरी सम्मान

भोपाल। समकालीन हिन्दी कविता के चर्चित युवा हस्ताक्षर श्री वसंत सकरगाए को उनकी पहली कृति ‘निगहबानी में फूल‘ के लिए वागीश्वरी सम्मान हेतु चयनित किया गया है। म.प्र. हिन्दी साहित्य सम्मेलन द्वारा स्थापित यह प्रतिष्ठित सम्मान आगामी मार्च में भोपाल में समारोह पूर्वक प्रदान किया जाएगा। कविता के साथ ही साहित्यिक पत्रकारिता और रंगमंच में सक्रिय रहे श्री सकरगाए का उक्त काव्य संग्रह अंतिका प्रकाशन गाजियाबाद से वर्ष 2011 में छपकर आया जिस पर स्थापित आलोचकों की टिप्पणियाँ देश भर की पत्र-पत्रिकाओं ने प्रकाशित की हैं।

प्रस्तुति- हेमंत

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here