7 वां अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन कंबोडिया में:‘भूमंडलीकरण और हिंदी’ - अपनी माटी

नवीनतम रचना

गुरुवार, फ़रवरी 28, 2013

7 वां अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन कंबोडिया में:‘भूमंडलीकरण और हिंदी’

रायपुर । 
अंतरराष्ट्रीय स्तर पर हिंदी और हिंदी-संस्कृति को 
प्रतिष्ठित करने के लिए 
संस्था व साहित्यिक वेब पत्रिका सृजनगाथा डॉट कॉम 
द्वारा, किये जा रहे प्रयास और पहल के अनुक्रम में 
रायपुर, बैंकाक, मारीशस,पटाया, ताशकंद (उज्बेकिस्तान), 
संयुक्त अरब अमीरात में छह-छह अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलनों के 
सफलतापूर्वक आयोजन के पश्चात अब 
14 जून से 24 जून, 2013 तक
कंबोडिया, वियतनाम, थाईलैंड में 10 दिवसीय 7 वें 
अंतरराष्ट्रीय हिंदी सम्मेलन का आयोजन  किया जा रहा है । सम्मेलन में हिंदी के 
चयनित/आधिकारिक विद्वान,अध्यापक, 
लेखक, भाषाविद्, शोधार्थी, संपादक, पत्रकार, 
रंगकर्मी, चित्रकार, बुद्धिजीवी, टेक्नोक्रेट, एवं 
हिंदी सेवी संस्थाओं के सदस्य, हिन्दी-प्रचारक,
 हिंदी ब्लागर्स भाग लेंगे । मुख्य आयोजन कंबोडिया 
की राजधानी नामपेन्ह में किया जायेगा। 

सम्मेलन में चार सत्र रखे गये हैं । 
मुख्य संगोष्ठी का विषय ‘भूमंडलीकरण और हिंदी’ रखा गया है । 
अंतरराष्ट्रीय रचना पाठ के सत्र में चुनिंदो कवि, गीतकार, लघुकथाकार 
अपनी रचनाओं का पाठ करेंगे । आयोजन में विविध 
विषयों पर प्रकाशित किताबों का विमोचन होगा । 
इसके अलावा बॉलीवुड, मुंबई के प्रख्यात संगीतकार
 कल्याण सेन द्वारा दुष्यंत कुमार की ग़ज़लों पर 
आधारित शास्त्रीय कार्यक्रम  ‘दरख्तों के साये में धूप’ तथा जयपुर 
की चर्चित कत्थक कोरियोग्राफर चित्रा जांगिड, जयपुर द्वारा कत्थक 
नृत्य पेश किया जायेगा । उक्त अवसर पर चयनित कंबोडियन और 
भारतीय लेखकों को सृजनगाथा डॉट कॉम से सम्मानित किया जायेगा । 
सम्मेलन के प्रतिभागियों को वियतनाम, कंबोडिया तथा थाईलैंड में 
युनेस्को द्वारा संरक्षित ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व के 
स्थलों के पर्यटन की व्यवस्था भी की गई है ।

संपर्क 
जयप्रकाश मानस, 
संयोजक 
एफ-3, छत्तीसगढ़ माध्यमिक शिक्षा मंडल, 
आवासीय परिसर, 
पेंशनवाड़ा, रायपुर, छत्तीसगढ 492001,
ईमेल-srijangatha@gmail.com

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here