"आदिवासियत को बचाना हमारी साझी जिम्मेदारी है।"-डॉ. गजेंद्र मीणा(दूसरा भाग) - अपनी माटी

हिंदी की प्रसिद्द साहित्यिक ई-पत्रिका ('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

"आदिवासियत को बचाना हमारी साझी जिम्मेदारी है।"-डॉ. गजेंद्र मीणा(दूसरा भाग)



1 टिप्पणी:

  1. धन्यवाद गजेन्द्र सर इस महत्वपूर्ण मुद्दे पर बात करने और आदिवासी जनजीवन को मद्देनज़र रखते हुए वर्तमान हालातों से संबंधित महत्वपूर्ण जानकारी देने के लिए । अपनी माटी पत्रिका का भी आभार की आपने इस मुद्दे पर चर्चा की ।

    उत्तर देंहटाएं

मुलाक़ात विद माणिक


ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here