विशेषज्ञ समीक्षित - अपनी माटी Apni Maati

India's Leading Hindi E-Magazine भारत की प्रसिद्द साहित्यिक ई-पत्रिका ('ISSN 2322-0724 Apni Maati')

नवीनतम रचना

विशेषज्ञ समीक्षित

मार्गदर्शक साथी


प्रो. गजेन्द्र पाठक

प्रोफ़ेसर(हिंदी विभाग)
हैदराबाद विश्वविद्यालय, हैदराबाद
   ई मेल:  gpathak.jnu@gmail.com,सम्पर्क:8374701410
========================================
डॉ. अभिषेक रौशन
प्रोफ़ेसर(हिंदी विभाग)
अंग्रेज़ी और विदेशी भाषा विश्वविद्यालय, हैदराबाद
          ई मेल:  araushan.jnu@gmail.com ,सम्पर्क:9676584598
========================================
श्री अम्बिकादत्त
वरिष्ठ कवि(हिंदी और राजस्थानी)
कोटा(राजस्थान)
                ई मेल: ambikadutt2@gmail.com ,सम्पर्क:
========================================
डॉ. राजेश चौधरी
सेवानिवृत्त प्रोफ़ेसर(हिंदी साहित्य)
कॉलेज शिक्षा(राजस्थान सरकार),चित्तौड़गढ़
               ई मेल: rajeshchoudhary1958@ gmail.com ,सम्पर्क:9461068958
========================================
डॉ. नीलम राठी
एसोसिएट प्रोफेसर (हिंदी)
अदिति महाविद्यालय, दिल्ली विश्वविद्यालय, दिल्ली
      ई मेल: drneelamrathi123@gmail.com ,सम्पर्क:9873910379
===================================================================================


संस्थापक सम्पादक
माणिक
पीएच.डी. स्कॉलर और संस्कृतिकर्मी
चित्तौड़गढ़(राजस्थान)
 ई मेल:manik@spicmacay.com, सम्पर्क:9460711896
========================================
प्रधान सम्पादक
अशोक जमनानी
ई मेल:ashokjamnani@gmail.com, सम्पर्क:
========================================
सम्पादक
जितेन्द्र यादव
ई मेल:jitendrayadav.bhu@gmail.com, सम्पर्क:
========================================
सह सम्पादक
डॉ. सौरभ कुमार
ई मेल:saurabh15190@gmail.com, सम्पर्क:
========================================
सह सम्पादक
विजय मीरचंदानी
ई मेल:vijaymirchandani303@gmail.com, सम्पर्क:
========================================
चित्रांकन संयोजन 
डॉ. संदीप मेघवाल
ई मेल:sandeepart01@gmail.com, सम्पर्क:
========================================
यूट्यूब संयोजन 
महेंद्र नंदकिशोर
ई मेल:care.readerscorner@gmail.com , सम्पर्क:
========================================
तकनिकी प्रबंधक
शेखर कुमावत
ई मेल:kumawatctr@gmail.com, सम्पर्क:
========================================

1 टिप्पणी:

  1. kisi madhyakaleen kavi par visheshaank nikalkar apni maati ne ek achchhi pahal ki hai . kripya reetikaal ke kaviyon par bhi is sandarbh mein vichaar kiya jana chahiye .

    जवाब देंहटाएं

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here