Latest Article :

आगामी अंक


नमस्कार,
अपनी माटी,(ISSN 2322-0724 Apni Maati) त्रैमासिक हिंदी वेबपत्रिका (www.apnimaati.com) के अब तक 24 अंक प्रकाशित हो चुके हैं 24 अंकों तक की यह यात्रा आप सभी पाठकों और लेखकों के सहयोग के बिना संभव नहीं थी। यह बताते हुए खुशी हो रही है कि पहले अंक से 24 वें अंक के इस सफर में अपनी माटी का पाठक वर्ग साढ़े नौ लाख की संख्या को पार कर चुका है

     आगामी अंक अपनी माटी  के लिए रजत जयंती अंक है यह अंक उस समय प्रकाशित होने जा रहा है, जब 'माटी' का सबसे नजदीकी रिश्तेदार संकट की घड़ी में है इस घड़ी में हमारा यह अंक 'किसान विशेषांक' के रुप में किसान भाई-बहनों के संघर्षों को समर्पित है नवउदारवादी नीतियाँ और देश की आर्थिक नीतियों की सबसे ज्यादा मार वही झेल रहे हैं। उन्हें अपने उत्पादन का सही मूल्य तक नहीं मिल पा रहा है। एक तरफ सरकारी कर्मचारियों का वेतन तेजी से बढ़ा है किन्तु उस गति से किसान के उत्पादन का उचित मूल्य नहीं मिला है। यह फ़ासला बताता है कि हम और हमारी व्यवस्था किसानों के प्रति कितने असंवेदनशील है। राष्ट्रीय स्तर पर आज कोई किसानों का सर्वमान्य नेता भी नहीं रहा। कम्पनियां अपने उत्पादन का दाम खुद तय करती हैं वहीं किसान के उत्पाद का मूल्य सरकार तय करती है। विदर्भ, बुन्देलखण्ड और तेलंगाना में किसानों की आत्महत्या हमें अब नहीं झकझोरती है। विकास के चकाचौंध में हम किस तरफ जा रहे हैं? 

इस अंक की गंभीरता, व्यापकता और विविधता के मद्देनजर इसके 'अतिथि संपादन' की जिम्मेदारी डॉ.गजेन्द्र पाठक, प्राध्यापक, हिंदी विभाग, हैदराबाद, केन्द्रीय विश्वविद्यालय, हैदराबाद, संपर्क मो. 8374701410, 8919892935 और डॉ.अभिषेक रौशन, सहायक प्राध्यापक, हिंदी विभाग, अंग्रेजी एवं विदेशी भाषा विश्वविद्यालय, हैदराबाद, संपर्क मो. 9441087258, 9676584598 संयुक्त रुप से उठा रहे हैं

इस अंक के लिए किसानों से जुड़े सभी पक्षों जैसे सामाजिक, राजनीतिक, ऐतिहासिक, आर्थिक क्षेत्रों से सम्बंधित आपके लेख, साक्षात्कार, चर्चा-परिचर्चा, कहानी, नाटक और संस्मरण आदि साहित्यिक या गैर साहित्यिक रचनाएँ यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करके हमारे ई मेल apnimaati.com@gmail.com पर 25 जुलाई 2017 तक भेज दीजिएगा 

भवदीय
(जितेन्द्र यादव)
संपादक,मो. 9001092806
(सौरभ कुमार)
सह-संपादक,मो. 9884732842

रचनाएं भेजने की अंतिम तारीख 25 जुलाई 2017 
अंक 31 जुलाई 2017 को आएगा
-------------------------
26वाँ अंक दो अक्टूबर 2017 तक आएगा जो सामान्य अंक रहेगा.
अगर आप तब तक इंतज़ार कर सकते हैं तो अपनी अन्य रचनाएं भेज सकते हैं.
फेसबुक पर हम यहाँ हैं https://www.facebook.com/apnimaati/


संस्थापक:माणिक

संस्थापक:माणिक
अपनी माटी ई-पत्रिका

सम्पादक:जितेन्द्र यादव

सम्पादक:जितेन्द्र यादव
अपनी माटी ई-पत्रिका

एक ज़रूरी ब्लॉग

एक ज़रूरी ब्लॉग
बसेड़ा की डायरी:माणिक

कृपया कन्वेंशन फोटो एल्बम के लिए इस फोटो पर करें.

यहाँ आपका स्वागत है



ई-पत्रिका 'अपनी माटी' का 24वाँ अंक प्रकाशित


ज्यादा पढ़ी गई रचना

यहाँ क्लिक करके हमारी डाक नि:शुल्क पाएं

Donate Apni Maati

रचनाएं यहाँ खोजिएगा

हमारे पाठक साथी

सम्पादक मंडल

साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक ई-पत्रिका
'अपनी माटी'
========
प्रधान सम्पादक
सम्पादक
सह सम्पादक
तकनिकी प्रबंधक
========
संपर्क
apnimaati.com@gmail.com
========

ऑनलाइन

Donate Us

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template