परिचय

अपनी माटी : एक परिचय
                       
  1. नवम्बर, 2009 से ही संचालित साहित्यिक ई-पत्रिका है।
  2. अप्रैल, 2013 से ही ई- ISSN कोड ISSN 2322-0724 Apni Maati आवंटित हो चुका है
  3. जून,2020 में प्रकाशित अंक 32 से ही 'समकक्ष व्यक्ति समीक्षित जर्नल' (PEER REVIEWED/REFEREED JOURNAL) के रूप में प्रकाशित हो रही है
  4. यह कला, साहित्य, रंगकर्म, सिनेमा, समाज, संगीत, पर्यावरण से जुड़े शोध, निबंध, साक्षात्कार, आलेख, सहित तमाम विधाओं में समाज-विज्ञान और साहित्य से सम्बद्ध रचनाएँ छपने और पढ़ने हेतु एक मंच है।
  5. यह पत्रिका प्रिंट फॉर्म में(हार्ड कोपी) में नहीं छपती है।
  6. हम अपनी पत्रिका का पीडीऍफ़ वर्जन भी नहीं छापते हैं।
  7. हमारी पत्रिका का इम्पेक्ट फेक्टर क्रमांक जारी नहीं करवाया है।
  8. पत्रिका का प्रकाशन 'अपनी माटी संस्थान चित्तौड़गढ़' ( पंजीयन संख्या 50 /चित्तौड़गढ़/2013 ) के द्वारा किया जाता है। 
  9. पहले सम्पादक अशोक जमनानी थे। फिर जितेन्द्र यादव हुए और अब जितेन्द्र के साथ माणिक भी शामिल हैं
  10. हम इस बैनर के तहत भविष्य में जनपक्षधर विचारों को पोषित करने वाले आयोजनों में कविता कार्यशाला, रंगमंचीय प्रदर्शन, थिएटर कार्यशाला, प्रतिरोध से जुड़े फिल्म फेस्टिवल, कहानी-उपन्यास से सम्बद्ध संगोष्ठियाँ, राष्ट्रीय सेमीनार आदि को अंजाम देने का मन रखते हैं।
  11. गौरतलब है कि हमारे साथी इस संस्थान को पूरी तरह से गैर-सरकारी और गैर-व्यावसायिक नज़रिए के साथ आगे बढ़ा रहे हैं।
  12. जुलाई 2021 से UGC Care List Approved हैMulti Disciplinary कटेगरी में क्रम संख्या 1 पर दर्ज है। इससे पहले भी अंक संख्या पच्चीस और छब्बीस यूजीसी केयर लिस्टेड अंक थे।
  13. हमारा वाट्स एप ग्रुप https://chat.whatsapp.com/HkcgV51jGT308VuFGg6dh5
------------------------------------------------------------------------------------------------------------


सभी कानूनी विवादों के लिये क्षेत्राधिकार चित्तौड़गढ़, राजस्थान होगा। प्रकाशित सभी सामग्री के विषय में किसी भी कार्यवाही हेतु संचालक/संचालकों का सीधा उत्तरदायित्त्व नही है अपितु लेखक उत्तरदायी है। आलेख की विषयवस्तु से संचालक की सहमति/सम्मति अनिवार्य नहीं है। यदि कोई भी असंवैधानिक सामग्री प्रकाशित हो जाती है तो वह तुंरत प्रभाव से हटा दी जाएगी। पाठक कोई भी आपत्तिजनक सामग्री पाते हैं तो तत्काल सूचित करिएगा।