Latest Article :
Home » , , , » अपनी माटी का प्रवेशांक 'अप्रैल-2013'

अपनी माटी का प्रवेशांक 'अप्रैल-2013'

Written By Manik Chittorgarh on शुक्रवार, अप्रैल 19, 2013 | शुक्रवार, अप्रैल 19, 2013

                                                      साहित्य और संस्कृति का प्रकल्प
अपनी माटी 
मासिक ई-पत्रिका 
अप्रैल,2013 अंक



  1. सम्पादकीय हाशिये से बाहर होती संस्कृति
  2. झरोखा हरिशंकर परसाई का व्यंग्य 'आध्यात्मिक पागलों का मिशन'
  3. डॉ. धर्मवीर भारती के काव्य में आस्था और अनास्था का द्वंद्व:डॉ राजेन्द्र कुमार सिंघवी
  4. विमर्श:नए विमर्शों के बीच साहित्य की सत्ता के सवाल / डॉ. शैलेन्द्रकुमार शर्मा
  5. विमर्श:कविता और कवियों के लिये कठिन समय / प्रो. सूरज पालीवाल
  6. फीचर:'गुलाब की खेती' /नटवर त्रिपाठी 
  7. फीचर:गोवा में रंगो का मेल /नटवर त्रिपाठी
  8. कहानी:ढ़ाबे की खाट / योगेश कानवा
  9. कहानी:संकल्प / डॉ. अजमेर सिंह काजल
  10. कविता: संजीव बख्‍शी
  11. कविता: राजीव आनंद
  12. कविता: रवि कुमार स्वर्णकार
  13. ऑडियो प्रोजेक्ट: डॉ सत्यनारायण व्यास
  14. व्यंग्य:मार्च का महीना / जितेन्द्र ‘जीतू’
  15. व्यंग्य:गायतोंडे जी का गाय गौरव संवर्धन / रंजन माहेश्वरी
  16. संस्मरण:डॉ. रमेश यादव
  17. कविता पोस्टर का पर्याय बनता चित्रकार कुँअर रवीन्द्र और उनकी कविता
  18. नई किताब:मैं एक हरिण और तुम इंसान / सुरेन्द्र डी सोनी
Share this article :

5 टिप्‍पणियां:

  1. अपनी माटी के प्रवेशांक के लिए शुभकामनाएँ।
    सम्पादकीय के साथ इसके फीटर और व्यंग्य अंक को रोचक और पठनीय बनाते है।

    उत्तर देंहटाएं
  2. अपनी माटी के नए अवतार के लिए बधाइयाँ और मंगलकामनाएँ ...

    उत्तर देंहटाएं
  3. apni mati se shahitya ke upavanko ak nai urvara shakti vicharo ko abhivyakt karne ki prapt ho rahai hai hardik shubhkamnaye ..SANJAY VERMA 'DRUSHTI' MANAWAR DISTT DAHAR M.P.

    उत्तर देंहटाएं
  4. अपनी माटी से यहाँ विदेश में भी भीनी-भीनी सौंधी सुगंध का आनंद ले सकता हो !एक पठनीय साहित्यिक सार्थक पत्रिका के लिए आपके प्रयास सराहनीय हे ! शुभकामनाये !

    उत्तर देंहटाएं
  5. अपनी माटी के नए अवतार के लिए बधाइयाँ और मंगलकामनाएँ ...

    उत्तर देंहटाएं

कृपया कन्वेंशन फोटो एल्बम के लिए इस फोटो पर करें.

यूजीसी की मान्यता पत्रिकाओं में 'अपनी माटी' शामिल

नमस्कार

अपार खुशी के साथ सूचित कर रहा हूँ कि यूजीसी के द्वारा जारी की गयी मान्यता प्राप्त पत्रिकाओं की सूची में 'अपनी माटी' www.apnimaati.com - त्रैमासिक हिंदी वेब पत्रिका को शामिल किया गया है। यूजीसी के उपरोक्त सूची के वेबसाईट – ugc.ac.in/journalist/ - में 'अपनी माटी' को क्र.सं./S.No. 6009 में कला और मानविकी (Arts & Humanities) कोटि के अंतर्गत सम्मिलत किया गया है। साहित्य, समय और समाज के दस्तावेजीकरण के उद्देश्यों के साथ यह पत्रिका 'अपनी माटी संस्थान' नामक पंजीकृत संस्था, चित्तौड़गढ द्वारा प्राकशित की जाती है.राजस्थान से प्रकाशित होने वाली संभवतया यह एकमात्र ई-पत्रिका है.


इस पत्रिका का एक बड़ा ध्येय वेब दुनिया के बढ़ रहे पाठकों को बेहतर सामग्री उपलब्ध कराना है। नवम्बर, 2009 के पहले अंक से अपनी माटी देश और दुनिया के युवाओं के साथ कदमताल मिलाते हुए आगे बढ़ रही है। इसी कदमताल मिलाने के जद्दोजह़द में वर्ष 2013 के अप्रैल माह में अपनी माटी को आईएसएसएन सं./ ISSN No. 2322-0724 प्रदान किया गया। पदानुक्रम मुक्त / Hierarchies Less, निष्पक्ष और तटस्थ दृष्टि से लैस अपनी माटी इन सात-आठ वर्षों के के सफर में ऐसे रचनाकारों को सामने लाया है, जिनमें अपार संभावनाएँ भरी हैं। इसके अब तक चौबीस अंक आ चुके हैं.आगामी अंक 'किसान विशेषांक' होगा.अपनी माटी का भविष्य यही संभावनाएँ हैं।


इसकी शुरुआत से लेकर इसे सींचने वाले कई साथी हैं.अपनी माटी संस्थान की पहली कमिटी के सभी कार्यकारिणी सदस्यों सहित साधारण सदस्यों को बधाई.इस मुकाम में सम्पादक रहे भाई अशोक जमनानी सहित डॉ. राजेश चौधरी,डॉ. राजेंद्र सिंघवी का भी बड़ा योगदान रहा है.वर्तमान सम्पादक जितेन्द्र यादव और अब सह सम्पादक सौरभ कुमार,पुखराज जांगिड़,कालूलाल कुलमी और तकनीकी प्रबंधक शेखर कुमावत सहित कई का हाथ है.सभी को बधाई और शुभकामनाएं.अब जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गयी है.


आदर सहित

माणिक

संस्थापक,अपनी माटी

यहाँ आपका स्वागत है



ई-पत्रिका 'अपनी माटी' का 24वाँ अंक प्रकाशित


ज्यादा पढ़ी गई रचना

यहाँ क्लिक करके हमारी डाक नि:शुल्क पाएं

Donate Apni Maati

रचनाएं यहाँ खोजिएगा

हमारे पाठक साथी

सम्पादक मंडल

साहित्य-संस्कृति की त्रैमासिक ई-पत्रिका
'अपनी माटी'
========
प्रधान सम्पादक
सम्पादक
सह सम्पादक
तकनिकी प्रबंधक
========
संपर्क
apnimaati.com@gmail.com
========

ऑनलाइन

Donate Us

 
Template Design by Creating Website Published by Mas Template