अपनी माटी का अक्टूबर-2013 अंक - अपनी माटी 'ISSN 2322-0724 Apni Maati'

चित्तौड़गढ़,राजस्थान से प्रकाशित ई-पत्रिका

नवीनतम रचना

अपनी माटी का अक्टूबर-2013 अंक


साहित्य और संस्कृति की मासिक ई-पत्रिका 
अपनी माटी
अक्टूबर-2013 अंक 


छायांकन हेमंत शेष का है

पाठक और लेखक साथियो,नमस्कार,अपनी माटी के प्रति  सहयोग बना रहे,हमारा अक्टूबर अंक आपके समक्ष प्रस्तुत है।आपके सुझावों की प्रतीक्षा रहेगी।इस अंक में सदाशिव जी श्रोत्रिय की नयी किताब पर राजेश चौधरी की टिप्पणी और हमारे अपने आयोजन 'माटी के मीत-२' में कविता के वर्तमान पर पढी गयी राजेंद्र सिंघवी की टिप्पणी ख़ास तौर पर पढने लायक हैलता चंद्रा को पहली बार छाप रहे हैं।तीनों युवा कवि भी इस बार फिर से शामिल हैं।हमारे अनुग्रह पर हेमंत शेष जी का नवीनतम कलाकर्म आपके साथ साझा कर पा रहे हैं।बाकी कुछ विशेष नहींशुक्रिया।






   डॉ. सत्यनारायण व्यास 
अध्यक्ष
अपनी माटी संस्थान
29 ,नीलकंठ,छतरी वाली खान,सेंथी, चित्तौड़गढ़-312001,
राजस्थान-भारत,
info@apnimaati.com

 अशोक जमनानी
सम्पादक
अपनी माटी पत्रिका 
 सतरास्ता,होटल हजुरी,
होशंगाबाद,
मध्यप्रदेश-भारत
info@apnimaati.com
Print Friendly and PDF

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

ज्यादा जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

Responsive Ads Here